जानलेवा महामारी Coronavirus से लड़ेंगे ड्रोन और रोबोट, 6 अस्पतालों में तैनात

0
31



बीजिंग। जानलेवा कोरोना वायरस ( Coronavirus ) का प्रकोप लगातार जारी है और मरने वालों की संख्या बढ़ता ही जा रहा है। लिहाजा इससे निपटने के लिए अब तकनीक का सहारा लिया जा रहा है।

चीन में अब ड्रोन ( Drone ) और रोबोट ( Robot ) जैसे हाईटेक उत्पादों को नोवल कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए तैनात किया जा रहा है। पूर्वी चीन के शानडोंग प्रांत के क्विंदाओ स्थित एक प्रौद्योगिकी कंपनी ने क्विंदाओ और पड़ोसी रिझाओ शहर के छह अस्पतालों में 30 किटाणुनाशक रोबोट्स दिए हैं।

Coronavirus: जापान शिप डायमंड प्रिंसेस में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 355 पहुंची

ऐसी संभावना है कि इस तरह के रोबोट्स का प्रांत के 20 और अस्पतालों में प्रयोग किया जाएगा। एक मीटर लंबा और दो व्हीलों पर चलने वाले रोबोट का आकार रेफ्रीजरेटर जैसा है और यह खुद ब खुद अलग-थलग किए गए वार्डो में जाता है और किटाणुनाशक का छिड़काव करता है।

31 जनवरी को किया गया था रोबोट का प्रशिक्षण

रोबोट के निर्माता और क्विंदाओ वेबुल इंटेलिजेंट टेक्नोलॉजी कोर्पोरेशन लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी फांग के ने कहा, ‘रोबोट को खासकर के छिड़काव करने वाले संयंत्र की तरह डिजाइन किया गया है और यह अलग-थलग किए गए वार्डो के प्रत्येक कोनों में घुसकर किटाणुनाशक का छिड़काव कर सकता है।’

क्विंदाओ विश्वविद्यालय में हुंगडाओ परिसर के सर्जरी विभाग के निदेशक लू यून ने इस कदम की सराहना की है। पहली बार 31 जनवरी को रोबोट का प्रशिक्षण यहीं किया गया था।

उन्होंने कहा, ‘इंटेलिजेंट रोबोटिक प्रोडक्ट्स कुछ मामलों में प्रभावी तरीके से डॉक्टरों और नर्सो का स्थान ले सकते हैं, जिससे उनके संक्रमित होने की आशंका कम हो जाती है।’

चीन में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 1650 के पार हुई

वहीं यहां के हुआंगडाओ जिले में इस महामारी से लड़ने के लिए ड्रोनों का भी प्रयोग किया जा रहा है। यहां ड्रोनो का प्रयोग आवासीय जगहों पर किटाणुनाशक का छिड़काव करने के लिए किया जाता है। आपको बता दें कि अकेले चीन में 1600 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 68 हजार के करीब लोग संक्रमित हैं।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here