दिल्ली हिंसा में बिगड़े हालात के बाद रिजर्व फोर्स भी तैनात, यमुनापार के तीनों जिलों में हाई-अलर्ट

0
41



नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरी-पूर्वी जिले में रविवार-सोमवार से ही बेकाबू हुए जा रहे हालात के मद्देनजर तीन जिलों में हाई-अलर्ट जारी कर दिया गया है। जिन जिलों में हाई-अलर्ट जारी किया गया है उनमें यमुनापार के तीन जिले उत्तर-पूर्वी (जहां से हिंसा शुरू हुई, पूर्वी और शाहदरा जिला) शामिल हैं।

दिल्ली हिंसा में शहीद हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की मौत की असल वजह आई सामने, ऑटोप्सी रिपोर्ट में हुआ खुलासा

हाई-अलर्ट मंगलवार को दोपहर बाद बिगड़े हालात के बाद जारी किया गया है। दिल्ली पुलिस मुख्यालय में विशेष आयुक्त स्तर के एक अधिकारी ने कहा, “उत्तर-पूर्वी जिले में हालात काबू करने के लिए सोमवार को धारा 144 लागू की गई थी। उम्मीद थी कि धारा 144 के डर से उपद्रवी सड़कों पर निकलकर हिंसा नहीं फैलाएंगे। मगर मंगलवार दोपहर तक धारा 144 भी निष्प्रभावी साबित हो गई। लिहाजा, हिंसाग्रस्त उत्तर-पूर्वी जिले सहित पड़ोस के जिले पूर्वी दिल्ली और शाहदरा जिले में भी सुरक्षा के एहतियाती इंतजाम किए गए। तीनों जिलों में हाई-अलर्ट घोषित कर दिया गया है।”

भीड़ ज्यादा और सुरक्षा बल कम

मौजपुर और फिर ब्रह्मपुरी इलाके में मंगलवार सुबह करीब 10 बजे से बलवाइयों से जूझ रहे एक डीसीपी के मुताबिक, “फोर्स पर्याप्त है। इसके बाद भी हाई-अलर्ट लगाने से यह फायदा रहा कि थानों में मौजूद पुलिस फोर्स भी सड़क पर उतर गई है। कुछ मदद तो मिल रही है, मगर हमारी तुलना में भीड़ ज्यादा है। हालांकि, हमारी मदद के लिए अर्धसैनिक बल भी हैं, लेकिन हम सिर्फ भीड़ को काबू करने के उपायों पर ही अमल कर पा रहे हैं। जबकि भीड़ हमें टारगेट करके हमले कर रही है। भीड़ के जब दो पक्ष आमने-सामने आ जा रहे हैं तो पुलिस और अर्धसैनिक बलों को बीच में आना पड़ रहा है। भीड़ के बीच में आ जाने से ही पुलिस और सुरक्षा बलों की स्थिति खराब हो जाती है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here