72nd Independence Day celebrated in Sri Lanka, President Gotabaya promises to protect democracy

0
39


कोलंबो। पड़ोसी देश श्रीलंका ( Sri Lanka ) में मंगलवार को हर्षोल्लास के साथ 72वां स्वतंत्रता दिवस ( 72nd Independence Day ) मनाया गाया। पूरे देश में राष्ट्रीय ध्वज फहराया ( Hoisted the national flag ) गया और राष्ट्रगान गाया गया।

इस विशेष मौके पर बतौर राष्ट्रपति गोताबाया राजपक्षे ( President Gotabaya Rajapaksa ) ने राष्ट्र के नाम अपने पहले संबोधन में लोगों को भरोसा दिलाया के वे लोकतंत्र की रक्षा करेंगे।

श्रीलंका: मंगलवार को मनाया जाएगा 72वां स्वतंत्रता दिवस, तमिल भाषा में नहीं होगा राष्ट्रगान

समाचार पत्र कोलंबो गजट के अनुसार, कोलंबो ( Colombo ) में इंडिपेंडेंस स्क्वेयर से राष्ट्र को संबोधित करते हुए राजपक्षे ने कहा कि श्रीलंका एकजुट देश है, जिसमें मीडिया सहित सभी के लिए अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता होगी। उन्होंने अपने संबोधन में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सहित द्वीपीय राष्ट्र में लोकतंत्र के रक्षा का लोगों को भरोसा दिलाया।

1948 में ब्रिटिश शासन से मुक्त हुआ श्रीलंका

राष्ट्रपति गोताबाया राजपक्षे ने कहा कि उनकी सरकार न ही विपक्षी आवाजों को दबाएगी और न ही न्यायपालिका के कार्य में हस्तक्षेप करेगी। उन्होंने इस बात को भी उजागर किया कि गलत सूचना फैलाने के लिए सोशल मीडिया का दुरुपयोग किया जा रहा है। गोताबाया ने ऑनलाइन कुछ भी पोस्ट करने से पहले जनता से दो बार सोचने का आग्रह किया।

श्रीलंका: राष्ट्रपति गौतबाया राजपक्षे ने संसद सत्र का किया उद्घाटन, सभी देशों के साथ मजबूत संबंध बनाने पर दिया जोर

समाचार पत्र कोलंबो पेज ने कहा कि इस साल स्वतंत्रता दिवस का थीम ‘ए सिक्योर नेशन- ए प्रॉस्परस कंट्री’ है। बता दें कि राष्ट्र को संबोधित करने से पहले राजपक्षे ने इंडिपेंडेंस स्क्वेयर पर ध्वजारोहण किया।

मालूम हो कि श्रीलंका 4 फरवरी, 1948 को ब्रिटिश शासन से मुक्त हुआ था। इसी स्वतंत्रता की याद के तौर पर इंडिपेंडेंस स्क्वेयर बनाया गया था।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.















LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here