According To RTI, Banks Lost Rs 1.17 Lakh Crore In 9 Months – आरटीआई में खुलासा, 9 महीनों में बैंकों को 1.17 लाख करोड़ रुपए का चूना

0
21


नई दिल्ली। बजट 2020 में भले ही बैंकिंग सेक्टर में कई तरह की राहत दी गई हों, बैंक मर्जर के माध्यम से उनकी बुक को स्ट्रांग करने का प्रयास किया गया हो, लेकिन बैंकिंग सेक्टर से बुरी खबरों के आने का सिलसिला खत्म नहीं हुआ है। आरटीआई में 2019 की शुरूआती 3 तिमाहियों में देश के बैंकों को 1.17 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हो या है। खास बात तो ये है कि कुल मामलों में से आधे से ज्यादा मामले मामले स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के हैं। उसके बाद बाकी बैंकों का है। आइए आपको भी बताते हैं पूरी डिटेल…

यह भी पढ़ेंः- Petrol Diesel Price Today : डीजल लगातार दूसरे दिन सस्ता, पेट्रोल के दाम में कोई बदलाव नहीं

बैंकों को बड़ा नुकसान
कई सख्त कदम उठाने के बाद भी बैंकिंग सेक्टर में फ्रॉड के मामले कम नहीं हुए हैं। इसमें लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है। आरटीआई में खुलासे से जानकारी मिली है कि वित्त वर्ष 2019-20 में अप्रैल से दिसंबर तक की तिमाहियों में बैंक फ्रॉड के कुल 8926 मामले सामने आए हैं। बैंक फ्रॉड की यह रकम 1.17 लाख करोड़ रुपए है। जबकि एक अप्रैल 2019 से 30 सितंबर 2019 की अवधि में 95,760.49 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के कुल 5,743 मामले सामने आए थे। यानी अक्टूबर से दिसंबर के बीच की तिमाही में बैंक फ्रॉड के 3183 मामलों का इजाफा हुआ है। अगर रकम की बात करें तो समान अवधि में 21250 करोड़ रुपए की राशि का फ्रॉड हुआ है। रिजर्व बैंक ने फ्रॉड के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दी गई है। आरबीआई की ओर से यह भी नहीं बताया गया है कि बैंकों और कस्टमर को कितना नुकसान हुआ है।

यह भी पढ़ेंः- शेयर बाजार में अमरीका चीन ट्रेड डील और कोराना वायरस का मिक्स्ड इंपैक्ट, सेंसेक्स में 84 अंकों की बढ़त

किस बैंक में कितने मामलों का फ्रॉड

बैंक का नाम कुल कितने मामले फ्रॉड की रकम ( रुपए में )
एसबीआई 4769 30,300 करोड़
पीएनबी 294 14,928.62 करोड़
बीओबी 250 11166.19 करोड़
इलाहाबाद बैंक 860 6781.57 करोड़
बीओआई 161 6626.12 करोड़
यूनियन बैंक 292 5604.55 करोड़
आईओबी 151 5556.64 करोड़
ओरिएंटल बैंक 282 4899.27 करोड़
कैनरा बैंक 1867 31600.76 करोड़


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here