all Medical insurance cover Coronavirus treatment

0
38


भारत भी कोरोना वायरस के दहशत की जद में है। एहतियातन लोग अस्पतालों के चक्कर काट रहे लोगों के लिए राहत की खबर है कि मेडिकल इंश्योरेंस कोरोना वायरस का इलाज भी कवर करता है। यह जानकारी जनरल इंश्योरेंस काउंसिल द्वारा दी गई है। कोरोना वायरस समेत सभी संक्रामक रोग लगभग सभी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के दायरे में आते हैं। 

जनरल इंश्योरेंस काउंसिल 44 साधारण बीमा कंपनियों की शीर्ष संस्था है। बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण (IRDA) के बयान के बाद जनरल इंश्योरेंस काउंसिल ने यह बात कही है। आईआरडीए ने बुधवार को बीमा कंपनियों से कोरोना वायरस को अपनी मौजूदा पॉलिसी में शामिल करने को कहा था। साथ ही यह भी सुनिश्चित करने को कहा था कि कोरोना वायरस से जुड़े दावों का निपटान शीघ्रता से हो।

ये भी पढ़ें- कोरोना का खौफ: बाजारों में चहल-पहल हुई कम, सिनेमाघरों में खाली पड़े बॉक्सऑफिस

जनरल इंश्योरेंस पॉलिसी को लेकर जागरुकता कार्यक्रम के दौरान परिषद के चेयरमैन एवी गिरिजा कुमार ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से कहा, ‘लगभग सभी मौजूदा स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के दायरे में सभी प्रकार के संक्रामक रोग आते हैं। इसमें कोरोना वायरस का भी मामला शामिल है। नियामक आईआरडीए ने नई पॉलिसी बनाने को नहीं कहा, बल्कि कोरोना वायरस मामलों के तेजी से निपटान की बात कही है।’

ये भी पढ़ें- कोरोना वायरस से बचने के लिए ऑफिस में भी रखें ये सावधानियां, जानें WHO की गाइडलाइन्स

भारत में गुरुवार तक कोरोना वायरस के 30 मामलों की पुष्टि हुई है। इसमें से 16 इटली से आए सैलानी हैं। आईआरडीए ने बुधवार को बीमा कंपनियों से स्वास्थ्य बीमा के तहत कोरोना वायरस के अस्पताल से जुड़े दावों के तेजी से निपटान करने के लिए कहा। नियामक ने ऐसी पॉलिसी भी लाने के लिए कहा है, जिसमें कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज का खर्चा शामिल होगा। इस विषाणु के कारण दुनिया भर में हजारों लोग प्रभावित हुए हैं।

सार्वजनिक क्षेत्र की ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के चेयरमैन कुमार ने कहा कि चालू वित्त वर्ष में उद्योग की वृद्धि दर 17 प्रतिशत रही और प्रीमियम आय 2 लाख करोड़ रुपये रहने की उम्मीद है। वर्ष 2024-25 में इसे दोगुना कर 4 लाख करोड़ रुपये करने का लक्ष्य है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here