Alovera Juice Can Improve Digestive System – पाचन क्रिया को दुरुस्त करता है ऐलोवेरा जूस

0
55


एसिडिटी या सीने में जलन एक आम समस्या है। इससे दिनचर्या गड़बड़ा जाती है। कई देसी व घरेलू उपाय है जिन्हें अपनाने से इनमें राहत मिलती है।

एसिडिटी या सीने में जलन एक आम समस्या है। इससे दिनचर्या गड़बड़ा जाती है। कई देसी व घरेलू उपाय है जिन्हें अपनाने से इनमें राहत मिलती है। खाने से पहले आधा कप एलोवेरा जूस लेने से लाभ मिलेगा। ये पित्त का भी शमन करता है, जिससे एसिडिटी नहीं होती। पेट में ज्यादा जलन होने पर एक चम्मच साबुत धनिया, आधी चम्मच सौंफ और एक चम्मच मिश्री एक गिलास पानी में तीन घंटे के लिए भिगो दें और फिर मसलने के बाद छानकर पीएं। इससे यूरिन में जलन भी नहीं होगी। ग्रीन टी या पेपरमिंट टी लेना भी लाभदायक हो सकता है। खाने के बाद तुरंत पानी न पीएं। ज्याद एसिडिटी की समस्या है तो ठंडे दूध का सेवन खाली पेट कर सकते हैं।
सौंफ की चाय फायदेमंद
सौंफ से एसिडिटी में राहत मिलती है। इसे चबा सकते हैं या फिर इसकी चाय बनाकर पीएं। इसके अलावा विटामिन-सी से भरपूर आंवला भी पेट संबंधी कई बीमारियों का इलाज है। एसिडिटी से भी बचाता है। आंवले का मुरब्बा भी खाया जा सकता है। इसी तरह एसिडिटी दूर करनी है तो अदरक चबाएं। गुलकंद भी फायदेमंद है। बादाम भी एसिडिटी को दूर करने में भी फायदा पहुंचता है। रात को सोते समय बादाम भिगो लें और सुबह उठाकर चबा लें। केला, सेब, खीरा आदि में भी अधिक फाइबर होता है।
तुलसी के पत्ती और शहद
तुलसी के कई फायदे हैं, जिनमें एसिडिटी दूर करना भी शामिल है। तुलसी के पत्ते को उबालकर छान लें और शहद मिलाकर लें। रोज सुबह खाली पेट तुलसी के दो-तीन पत्ते चबाने से भी एसिडिटी को खत्म किया जा सकता है। एसिडिटी से बचाव के लिए नमक और मिर्च कम खाएंं। खाना खाने के तुरंत बाद बैठे या लेटें नहीं। थोड़ी देर चहलकदमी करेंगे तो पाचन क्रिया सही रहेगी। जो लोग मोटापे से ग्रस्त हैं, वे अपने खान-पान पर नियंत्रण रखें। खाना खाने से पहले या तत्काल बाद चाय या कॉफी न पीएं। वैद्य शम्भू शर्मा, आयुर्वेद चिकित्साधिकारी, कोटखावदा, जयपुर








LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here