Banks Will Remain Closed For So Many Days In Feb And March – आम लोगों की बढ़ेंगी मुश्किलें, फरवरी और मार्च में इतने दिन बंद रहेंगे बैंक

0
8


  • आज से तीन दिन तक बंद रहने वाले हैं निजी और सरकारी बैंक
  • मार्च में बैंकों की हड़ताल की वजह से बंद रहने वाले हैं सभी बैंक

नई दिल्ली। मौजूदा महीने के साथ साथ मार्च में भी आम लोगों की मुश्किलों में इजाफा होने वाला है, उसका कारण हैं बैंक का अवकाश और हड़ताल। मतलब साफ है कि बैंक बंद रहने से आम जनता अपने बैंकिंग से जुड़े काम नहीं करा पाएंगे। वहीं दूसरी ओर एटीएम में कैश किल्लत भी बढ़ेगी। ऐसे में आम लोगों को अपनी जेब में भरपूर मात्रा में कैश रखने की जरुरत है। आपको बता दें आज से तीन दिनों तक प्राइवेट और सरकारी बैंक बंद हैं। वहीं अगले महीने या मार्च में बैंकों के हड़ताल और अलग-अलग कारणों से बंद ही रहेंगे।

आज से तीन दिन बैंक रहेंगे बंद
आज यानी शुक्रवार से अगले तीन दिनों लिए बैंक बंद रहेंगे। आज महाशिवरात्रि के मौके पर बैंकों का अवकाश है। जिसमें प्राइवेट और सरकारी बैंक दोनों शामिल है। वही अगले दिन महीने का चौथे शनिवार की छुट्टी है, फिर रविवार को बंद पूरी तरह से बंद ही होते हैं। इस तरह लगातार तीन दिन बैंकिंग कार्य बाधित रहने वाले हैं।

मार्च में होगी बैंकों की हड़ताल
वहीं मार्च के महीने में बैंकों की हड़ताल आम लोगों पर काफी भारी पडऩे वाली है। बैंकों की हड़ताल 11 से 13 मार्च तक होगी। ये तीनों दिन बुधवार गुरुवार और शुक्रवार को पडऩे वाले हैं। जोकि बैंकों के लिहाज से वर्किंग डे हैं, जहां बैंकों का काम काफी जोरशोर से चलता है। आपको बता दें 2020 में बैंकों की तीसरी हड़ताल है, जो अपनी मांगों को लेकर कर रहे हैं।

हड़ताल से पहले भी बैंक रहेंगे बंद
वहीं दूसरी ओर मार्च में बैंकों की हड़ताल से पहले बैंक बंद रहेंगे। बैंकों की हड़ताल से पहले 7 और 8 मार्च को भी बैंक बंद रहेंगे। 7 मार्च को महीने के दूसरे शनिवार का अवकाश है। वहीं आठ मार्च को रविवार की छुट्टी है। एक दिन बैंक खुलने के बाद 10 मार्च को होली का अवकाश होगा और उसके बाद हड़ताल शुरू हो जाएगी। तीन दिन की हड़ताल के बाद 14 मार्च को बैंक खुलेंगे और उसके बाद 15 मार्च को रविवार का अवकाश हो जाएगा। बैंकों की इन छुट्टियों के कारण चेक क्लियरेंस जैसे महत्वपूर्ण बैंकिंग कार्य रुक जाते हैं।







Show More












LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here