Barclays Report: GDP Will Not Be Even One Percent Due To Lockdown! – Barclays Report: 3 मई तक रहेगा Lockdown, लेकिन देश की जीडीपी एक फीसदी भी नहीं रहेगी!

0
59


  • देश में लॉकडाउन बढऩे के बाद Barclays ने 0.8 फीसदी किया देश की जीडीपी अनुमान
  • कहा, लॉकडाउन बढऩे से इकोनॉमी को हो सकता है 17.84 लाख करोड़ का नुकसान
  • बार्कलेज ने 21 दिन के लॉकडाउन पर 9 लाख करोड़ के नुकसान का लगाया था अनुमान

नई दिल्ली। देश में 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान देश की इकोनॉमी को लेकर अब बड़े बड़े कयास लगाए जा रहे थे, अब इस लॉकडाउन को और 19 दिनों के लिए बड़ा दिया गया है। ऐसे में अब आर्थिक एजेंसियों और ब्रोकरेज फर्म की ओर से नए आंकलन जारी करने के शुरू कर दिए हैं। ब्रिटिश फर्म ने भारत की जीडीपी का अनुमान और एक फीसदी से भी कम कर दिया है। बार्कलेज की ताजा रिपोर्ट के अनुसार वित्तीय वर्ष 2020-21 में देश की जीडीपी 0.8 फीसदी रहने का अनुमान लगाया है और इस कुल 40 दिन के लॉकडाउन में देश की इकोनॉमी को करीब 18 लाख करोड़ रुपए के नुकसान का अनुमान लगाया है।

यह भी पढ़ेंः- उद्योग जगत ने किया बढ़े हुए लॉकडाउन को स्वीकार, उबरने को 16 लाख करोड़ की दरकार

0.8 फीसदी रह सकती है देश की जीडीपी
बार्कलेज की रिपोर्ट के अनुसार लॉकडाउन में इजाफे की वजह से इकोनॉमी को 17.80 लाख करोड़ रुपए का नुकसान होने की संभावना है। मौजूदा कैलेंडर वर्ष के अनुसार 2020 में भारत की जीडीपी ग्रोथ काफी धीमी रहने के आसार दिखाई दे रहे हैं। कंपनी के अनुमान के अनुसार वित्त वर्ष 2020-21 में देश की जीडीपी ग्रोथ रेट 0.8 फीसदी रह सकता है। इससे पहले बार्कलेज की ओर 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान जारी रिपोर्ट के अनुसार 9 लाख करोड़ रुपए के नुकसान का अनुमान लगाया था। वहीं देश की जीडीपी को 3.5 फीसदी रहने का अनुमान लगाया था।

यह भी पढ़ेंः- Lockdown 2.0: 19 दिन में देश की इकोनॉमी को हो सकता है 6.65 लाख करोड़ रुपए का नुकसान

3 मई तक देश में लॉकडाउन
देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार सुबह 10 बजे देश को संबोधित किया था। जिसमें 25 मार्च से लागू लॉकडाउन की अवधि को तीन मई, 2020 तक बढ़ाने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को रोकने के लिए लॉकडाउन की समय सीमा को बढ़ाना जरूरी है। पीएम मोदी ने कोरोना वायरस से कम प्रभावित क्षेत्रों में 20 अप्रैल से कुछ छूट देने का संकेत दिया है, लेकिन साथ ही कहा कि यह छूट सशर्त दी जाएगी। उन्होंने कहा कि नियमों का पालन नहीं होने या कोरोना के मामले पाए जाने पर छूट वापस ले ली जाएगी।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here