Breast cancer disease is increasing in women these are the main causes and methods of prevention

0
5


महिलाओं में होने वाला ब्रेस्ट कैंसर आज एक आम बीमारी हो गई है। आमतौर पर देखा गया है कि करीब 28 महिलाओं में से एक महिला को ब्रेस्ट कैंसर की आशंका हो सकती है। एक रिपोर्ट के अनुसार, शहरों में 22 में से एक महिला ब्रेस्ट कैंसर से पीड़ित हो सकती है और ग्रामीण इलाके में 60 में से एक महिला ब्रेस्ट कैंसर की शिकार हो सकती है। यह भी माना जाता है कि महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर की आशंका 30 साल की उम्र से शुरू होती है और 50 से ज्यादा उम्र की महिलाओं में इसकी आशंका बढ़ जाती है। अभी तक ब्रेस्ट कैंसर होने की खास वजह तो पता नहीं चली है, लेकिन ऐसे बहुत से कारण हैं जो इस खतरे को बढ़ा सकते हैं। कैंसर होने की आशंका हमारे खानपान, जींस, जीवन शैली और आदतों पर निर्भर करती है। आइए सबसे पहले जानते हैं कि कैंसर किन कारणों से होता है। www.myupchar.com से जुड़े एम्स के डॉ. उमर अफरोज के अनुसार, स्तन कैंसर महिलाओं में होने वाले कैंसर में सबसे आम है।

महिलाओं की उम्र पर निर्भर
महिलाओं की जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जाती है, वैसे-वैसे ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ता जाता है और सबसे ज्यादा आशंका 50 की उम्र से ज्यादा वाली महिलाओं में देखी गई है। ऐसी महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति ज्यादा सतर्क रहना चाहिए। शुरुआती लक्षणों का पता चलते ही जांच करा लेनी चाहिए।

महिलाओं की लंबाई
कई शोध में ये भी खुलासा हुआ है कि महिलाओं की ज्यादा लंबाई भी ब्रेस्ट कैंसर होने का एक कारण मानी जाती है। जिन महिलाओं की लंबाई ज्यादा होती है, उनमें ब्रेस्ट कैंसर का खतरा अधिक होता है और जिनकी लंबाई कम होती है, उनमें ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम होता है।

मासिक धर्म का जल्दी आना
जिन लड़कियों का मासिक धर्म काफी कम उम्र में आ जाता है, उनमें भी ब्रेस्ट कैंसर का खतरा ज्यादा होता है।

आनुवंशिक कैंसर का खतरा
यदि किसी के परिवार में किसी बुजुर्ग महिला को ब्रेस्ट कैंसर है, तो उनके बच्चों या परिवार की किसी भी महिला सदस्य को भी 15% तक ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा रहता है। ऐसे में परिवार की अन्य महिलाओं को शुरुआती चेकअप करवाते रहना चाहिए। इसके अलावा ऐसी महिलाएं, जिनकी रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज) औसत उम्र के बाद आती है, उन्हें भी आंशिक रूप से स्तन कैंसर का खतरा होता है, क्योंकि इन महिलाएं में हार्मोन एस्ट्रोजन के ज्यादा संपर्क में रहती हैं।

अनियमित जीवनशैली
यदि कोई महिला अपने खान-पान में ध्यान नहीं देती या किसी महिला का वजन बढ़ जाता है। विशेषकर स्तनों में असामान्य गांठ विकसित होती है तो उसके प्रति भी सतर्क रहना चाहिए। कई बार स्तन में कई अन्य कारणों से भी गांठ होती है, जो चिंता का विषय नहीं रहती है, लेकिन शंका के निवारण के लिए इसकी जांच जरूर करा लेना चाहिए।

रोज व्यायाम करें तो दूर होगा स्तन कैंसर का खतरा
www.myupchar.com से जुड़े एम्स के डॉ. उमर अफरोज के अनुसार, स्तन कैंसर का खतरा कम करने के लिए नियमित व्यायाम करना बेहद जरूरी है। साथ ही कोशिश यह करनी चाहिए कि फाइबर व कम वसा वाला खाना खाएं। इसके अलावा कभी भी घरों में प्लास्टिक के बर्तनों का उपयोग न करें। साथ ही यह भी देखा गया है कि जो महिलाएं कम उम्र में गर्भवती होती है, उनमें ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम होता है। बच्चों को स्तनपान कराने वाली महिलाओं में स्तन कैंसर कम होता है।

अधिक जानकारी के लिए देखें : https://www.myupchar.com/disease/breast-cancer
स्वास्थ्य आलेख https://www.myupchar.com द्वारा लिखे गए हैं, जो सेहत संबंधी भरोसेमंद जानकारी प्रदान करने वाला देश का सबसे बड़ा स्रोत है। 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here