Budget 2020 Defence Budget Increased By 6 Percent – Budget 2020: सुरक्षा सरकार की प्राथमिकता लेकिन डिफेंस बजट में मात्र6 फीसदी की बढ़ोत्तरी

0
61


नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का दूसरा बजट पेश किया । ये बजट अर्थव्यवस्था की मौजूदा हालत को देखते हुए काफी चुनौतीपूर्ण था । सरकार के पास क्रेडिट क्राइसिस है ऐसे में सरकार ने रियलस्टेट, ऑटोमोबाइल और गोल्ड जैसे अर्थव्यवस्था के कई महत्वपूर्ण सेक्टर्स के बारे में भले ही कोई घोषणा नहीं की लेकिन ऐसे मुश्किल वक्त में भी सरकार ने सुरक्षा को प्राथमिकता बताते हुए डिफेंस बजट में बढ़ोत्तरी की है। वित्त मंत्री ने कहा कि देश में सुरक्षा का मुद्दा सबसे अहम है। पीएम मोदी की अगुवाई में हमारी सरकार भ्रष्टाचार मुक्त रही है ।

Budget 2020 : 2025 तक भारत को टीबी मुक्त बनाने का लक्ष्य, हेल्थ सुधारने को दिये 70 हजार करोड़ रुपए

रक्षा बजट में हुआ 6 फीसदी का इजाफा-

बजट 2020 में रक्षा बजट में बढ़ोतरी की गई है। निर्मला सीतारमण द्वारा पेश बजट में 6 प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई। यह अब 3.37 लाख करोड़ हो गया है। इस बार रक्षा क्षेत्र का पेंशन बजट 1.33 लाख करोड़ रुपये हुआ है। पिछले साल 1.17 लाख करोड़ रुपये दिए गए थे। वहीं हथियारों की खरीद और आधुनिकीकरण के लिए 1,10,734 करोड़ दिए गए हैं।

सरकार ने केंद्रीय बजट 2020-21 में 30.42 लाख करोड़ रुपये में से,रक्षा क्षेत्र के पेंशन के लिए 4.71 लाख करोड़ रुपये रखे हैं, जो केंद्र सरकार की संपूर्ण व्यय योजना का 15.5 प्रतिशत है।

बजट के बाद बाजार का मूड, 3 महीने के निचले स्तर पर सेंसेक्स बंद, निफ्टी में 2018 के बाद सबसे बड़ी गिरावट

जरूरत के हिसाब से पर्याप्त नहीं है बजट-

भले ही मोदी सरकार सुरक्षा को प्राथमिकता बताती है उस लिहाज से डिफेंस बजट पर्याप्त नहीं है । दरअसल सेना को पैसे की कमी के कारण आधुनिकीकरण और हथियारों की खरीद को रोकना पड़ रहा है जिसकी सेना को लंबे समय से जरूरत है। यही वजह है कि जरूरतों के लिहाज से इस बजट एलोकेशन को पर्याप्त नहीं कहा जा सकता है।

सरकार ने केंद्रीय बजट 2020-21 में 30.42 लाख करोड़ रुपये में से,रक्षा क्षेत्र के पेंशन के लिए 4.71 लाख करोड़ रुपये रखे हैं, जो केंद्र सरकार की संपूर्ण व्यय योजना का 15.5 प्रतिशत है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here