Calcium deficiency completes 12 diets in pregnancy know why it is important

0
34


हर किसी के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी है, क्योंकि यही वो तत्व है जो हड्डियों का विकास करता है और इसे मजबूती देता है। कैल्शियम का भरपूर सेवन गर्भवती महिलाओं के लिए खासकर बहुत जरूरी है। इसके सेवन से पेट में पल रहे बच्चे को भी कैल्शियम मिलता है और उसकी हड्डियों का विकास होता है। अगर महिला गर्भधारण करने के समय से ही या फिर उससे पहले से ही अपनी सेहत के प्रति जागरुक रही है, तो वह कई समस्याओं से बच सकती है। myupchar.com से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि शरीर में कुछ कैल्शियम की 90 प्रतिशत मात्रा हड्डियों और दातों में ही होती है। बाकी 10 प्रतिशत कैल्शियम खून, शरीर के तरल पदार्थ, नसों और मांसपेशियों की कोशिकाओं और अन्य कोशिकाओं व ऊतकों में मौजूद होता है। यह इन सभी को अपने कार्य करने में मदद करता है। इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करें जो कैल्शियम से भरपूर हो। इनके सेवन से कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा शरीर में जाएगी।

संतरा : संतरा विटामिन सी का मुख्य स्रोत होता है और इसके सेवन से कैल्शियम की कमी पूरी की जा सकती है। गर्भावस्था के समय कैल्शियम पाने के लिए इससे अच्छा विकल्प कुछ नहीं है। इससे इम्यून सिस्टम बढ़ता है। संतरा में कैल्शियम की लगभग 50 मिलीग्राम मात्रा पाई जाती है।

पालक : पालक में 250 मिलीग्राम कैल्शियम पाया जाता है। यह गर्भावस्था में कैल्शियम की कमी को पूरा करता है, इसे खाने से आयरन भी मिलता है।

खजूर : खजूर में मिलने वाला कैल्शियम बच्चे की हड्डियां और दांत बनाने में मददगार होता है। इसमें मौजूद फोलेट दिमाग से जुड़ी संभावित बीमारियों और कमजोरियों से बच्चे की रक्षा करता है।

बादाम : कैल्शियम की कमी के इलाज के लिए बादाम बढ़िया विकल्प है। 100 ग्राम बादाम में 264 मिलीग्राम कैल्शियम पाया जाता है। कैल्शियम की कमी को पूरा करने के साथ दिमाग भी तेज करता है।

मसूर की दाल : प्रेगनेंसी की कैल्शियम डायट में मसूर की दाल को शामिल करना चाहिए। मसूर दाल में 19 मिलीग्राम कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है।

शलजम : शलजम कैल्शियम से भरपूर है। 100 ग्राम शलजम में लगभग 190 मिलीग्राम कैल्शियम पाया जाता है।

दूध और इससे बने उत्पाद : दूध तथा दही दोनों में 125 मिलीग्राम कैल्शियम पाया जाता है। कम वसा वाले दही यानी योगर्ट में कैल्शियम भरपूर मात्रा पाया जाता है।

सोयबीन : सोयाबीन, सोया मिल्क या टोफू में भरपूर कैल्शियम है। एक कप पकी हुई सोयाबीन में लगभग 175 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। दूध पीना पसंद नहीं है तो सोया मिल्क का विकल्प अपना सकते हैं।

मछली : सैल्मन मछली में कैल्शियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है। यह 282 मिलीग्राम कैल्शियम दे सकता है जो शरीर में कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए पर्याप्त है।

ब्रोकली : ब्रोकली में एंटीऑक्सीडेंट, फॉलिक एसिड, आयरन, फाइबर के अलावा और भी बहुत से पोषक तत्व मौजूद होते हैं। 156 ग्राम ब्रोकली में 63 मिलीग्राम कैल्शियम होता है।

सूखे अंजीर : एक कप सूखे अंजीर में लगभग 240 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। साथ ही इसमें उच्च मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। यह प्रेगनेंसी में लाभकारी होता है।

कीवी : कीवी में उच्च मात्रा में कैल्शियम और विटामिन सी होता है। ये पोषक तत्व गर्भवती महिलाओं के शरीर को कई लाभ प्रदान करते हैं।

अधिक जानकारी के लिए देखें: https://www.myupchar.com/pregnancy

myUpchar.com द्वारा लिखे गए हैं, जो सेहत संबंधी भरोसेमंद जानकारी प्रदान करने वाला देश का सबसे बड़ा स्रोत है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here