Children are being encouraged in madrasas to consume drugs: Pakistani minister

0
27


युवाओं और छात्रों में नशीली दवाओं ( Narcotic drugs ) के चलन को रोकने के लिए ‘जिंदगी’ नाम से एक ऐप लॉन्च कर दिया गया

मंत्री शहरयार अफरीदी ( Shahryar Afridi ) के बयान पर नेशनल एसेंबली में विपक्ष ने जमकर हंगामा किया

इस्लामाबाद। आतंकवाद ( Terrorism ) के रास्ते पर बच्चों को भटकाने वाले पाकिस्तान ( Pakistan ) के बारे में एक और खुलासा हुआ है। ये खुलासा पाकिस्तान के ही एक मंत्री ने किया है। दरअसल, पाकिस्तान के शिक्षण संस्थानों में बच्चों को नशे का सेवन करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। बच्चों से कहा जा रहा है कि वे नशे का सेवन करें।

दरअसल, पाकिस्तान के मादक पदार्थ नियंत्रण मामलों के संघीय मंत्री शहरयार अफरीदी ( Shahryar Afridi ) ने देश की संसद के निचले सदन नेशनल एसेंबली ( Pakistan Nation Assembly ) में कहा कि इस बात को मानने की जरूरत है कि देश के शिक्षण संस्थानों और युवाओं में मादक पदार्थो का चलन फैल चुका है।

ट्रंप के भारत दौरे से पहले PAK में खलबली, कहा- कश्मीर मामले में मध्यस्थता पेशकश पर अमल हो

उन्होंने कहा कि समस्या कितनी गंभीर है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि एक मदरसे के शिक्षक ने विद्यार्थियों से कहा कि नशीली दवा ( Narcotic drugs ) लिया करो, इससे पाठ याद करने में मदद मिलती है। उनके इस बयान पर सदन में हंगामा मच गया।

‘जिन्दगी’ नाम से ऐप लॉंच

अफरीदी ने चर्चा के दौरान कहा कि युवाओं और छात्रों में नशीली दवाओं के चलन को रोकने के लिए ‘जिंदगी’ नाम से एक ऐप लॉन्च कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि समाज में काफी हद तक मादक पदार्थो का इस्तेमाल फैल चुका है। यह किसी पार्टी या सरकार का मामला नहीं है। इसमें माता-पिता की मदद की जरूरत है।

अफरीदी ने कहा कि एक मदरसे के शिक्षक ने बच्चों से कहा कि नशीली दवाएं लिया करो, इससे पाठ को कंठस्थ करने में मदद मिलती है। इस बयान पर संसद में जमकर हंगामा हुआ।

धार्मिक पार्टियों के गठबंधन एमएमए में शामिल जमीयते उलेमाए इस्लाम-फजल( Jamiat Ulema-e-Islam Fazal ) के सांसद मौलाना असद महमूद ( Asad Mehmood ) ने कहा कि अफरीदी ने झूठ बोला है। एक मदरसे के नाम पर देश के हजारों मदरसों को बदनाम करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। अफरीदी उस मदरसे का नाम बताएं, जहां यह बात कही गई।

अमरीका ने आतंकी हाफिज सईद को सजा सुनाए जाने पर की PAK की तारीफ

इस पर अफरीदी ने कहा कि उन्होंने किसी मदरसे का नाम नहीं लिया है। सदन में हंगामा बढ़ने पर शिक्षा मंत्री शफकत महमूद ने बीच बचाव करते हुए कहा कि पाकिस्तान के मदरसों का स्तर इतना अच्छा है कि दुनिया के अन्य देशों से बच्चे यहां पढ़ने आते हैं। लेकिन, अगर कहीं कुछ बुरा दिखता है तो उसे बुरा कहना होगा।

सांसद मौलाना असद महमूद ने कहा कि इस तरह से बात नहीं हो सकती। उस शिक्षक का नाम बताइये। हम खुद जांच कर दुनिया को इस बारे में बताएंगे। संघीय सरकार भी जांच कर कार्रवाई करे। इस तरह से सिर्फ कह देने का कोई अर्थ नहीं है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.








LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here