China : Coronavirus Virus Death Toll Rises And New Fatalities Are Coming Updates – कोरोनावायरस : केरल में राज्य आपदा घोषित, चीन में मरने वालों की संख्या 425 हुई

0
47


ख़बर सुनें

चीन में जानलेवा कोरोनावायरस के चलते मृतकों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। चीन की सरकार द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक अभी तक कोरोनावायरस के चलते 425 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, इससे संक्रमित 64 नए मामले भी सामने आए हैं। पूरे देश में इससे संक्रमित लोगों की संख्या 20,400 हो गई है।

कोरोना वायरस से जूझ रहे चीन में सर्जिकल मास्क और चिकित्सकीय सामानों की कमी हो गई है और उसे इनकी तत्काल जरूरत है। साल 2002 में आए सार्स से भी ज्यादा लोगों की जान ले चुके कोरोना वायरस से चीन में 20 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं।
 

हांगकांग में कोरोना वायरस से पीड़ित एक व्यक्ति की मौत

कोरोनावायरस से पीड़ित 39 वर्षीय एक व्यक्ति की हांगकांग में मौत हो गई। यहां इस वायरस से संक्रमित किसी व्यक्ति की मौत का यह पहला मामला है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की। चीन के बाहर इस वायरस से किसी की जान जाने का यह दूसरा मामला है। इससे पहले फिलिपीन में एक व्यक्ति की मौत इसके कारण हुई थी।

चीन ने सोमवार को कोरोनोवायरस से प्रभावित वुहान शहर में नौ दिनों में बनाया गया 1,000 बेड का अस्पताल खोला और वायरल वायरस के इलाज के लिए क्लिनिकल परीक्षण शुरू किया। एक चीनी स्वास्थ्य विशेषज्ञ झोंग नानशान ने कहा कि ताजा सबूतों के आधार पर कोरोनोवायरस जो चीन और दुनिया में तेजी से फैल रहा है, अगले 10 से 14 दिनों में अपने चरम पर पहुंच सकता है। इसका मतलब यह है कि यह मामला कम होने के बजाय तेजी से बढ़ेगा, जो दुनिया के लिए परेशानी का सबब होगा। 

कोरोनावायरस से जूझ रहे चीन में सर्जिकल मास्क और चिकित्सकीय सामानों की कमी हो गई है और उसे इनकी तत्काल जरूरत है। 1.4 अरब आबादी वाले देश में लोग डर के मारे अपने घरों में सर्जिकल मास्क जमा कर रहे हैं। इधर, चीन ने अमेरिका पर आरोप लगाया है कि बीमारी से निबटने में मदद करने के बजाय वह डर और खौफ का माहौल पैदा कर रहा है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ शुनविंग ने कहा, चीन को अभी सबसे ज्यादा जरूरत सर्जिकल मास्क, संक्रमण से सुरक्षित रखने वाले खास सूट और रंगीन चश्मों की है।

चीनी सरकार ने वायरस के चलते बिगड़ते आर्थिक और कूटनीतिक परिस्थितियों के लिए अमेरिका पर अंगुली उठाई है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका मदद करने की बजाय डर और खौफ का माहौल पैदा कर रहा है। बता दें कि व्यापारिक विवादों के चलते चीन और अमेरिका के संबंध पिछले एक साल से तनावपूर्ण रहे हैं। कोरोनावायरस का संक्रमण सामने आने पर चीनी यात्रियों पर प्रतिबंध और चीन में अपने दूतावास के कर्मचारियों में कमी करने वाला पहला देश अमेरिका ही था।

केरल में कोरोनावायरस का तीसरा पॉजिटिव मामला सामने आया है, जिसे देखते हुए राज्य सरकार ने इसे राज्य आपदा घोषित कर दिया है। केरल सरकार की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह कदम उठाया है।

इसके साथ ही सभी जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पीड़ित छात्र वुहान में पढ़ाई कर रहा था। इसके अलावा करीब दो हफ्ते पहले चीन से लौटे दो लोगों को केरल के कोट्टयम के सरकारी अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।

ओडिशा के कटक में आठ लोगों को भर्ती किया गया जिनमें कोरोनावायरस से संक्रमित होने की आशंका है। इनमें से पांच की रिपोर्ट निगेटिव आई है। एक मेडिकल छात्र को एससीबी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। एक महिला और चीन में पढ़ रहे एक और मेडिकल छात्र को एससीबी मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। महिला के पति का भी परीक्षण किया जा रहा है। 

चीन जाने से बचने की एडवाइजरी 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भारतीय नागरिकों को चीन जाने से बचने की एडवाइजरी जारी की है। साथ ही सरकार ने कहा है कि जो भी व्यक्ति 15 जनवरी 2020 से चीन गया है, उसके साथ यात्रा करने से भी बचा जाए।  केंद्र सरकार ने कहा है कि चीनी नागरिकों के लिए फिलहाल ई वीजा सुविधा रोक दी गई है। इसके अलावा हले से जारी ई वीजा और आवेदनों को भी निलंबित कर दिया गया है। 

कोरोनावायरस को लेकर मंत्रियों के समूह की बैठक

कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने के लिए तैयारियों की समीक्षा, निगरानी और मूल्यांकन करने के लिए गठित मंत्रियों के समूह ने सोमवार को अपनी पहली बैठक की। इस बैठक में केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन, हरदीप पुरी, एस जयशंकर, जी किशन रेड्डी, अश्विनी कुमार चौबे और मनसुख लाल मंडाविया शामिल हुए। 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इस बैठक में केरल से रिपोर्ट किए गए तीन पुष्ट मामलों और निवारक कदमों और उपायों से मंत्रियों को अवगत कराया गया। भारत सरकार ने पड़ोसी देश में रहने वाले चीनी यात्रियों और विदेशियों के लिए ई-वीजा सुविधा के अस्थायी निलंबन की घोषणा करते हुए सलाह दी कि 15 जनवरी के बाद से चीन जाने वाले किसी भी व्यक्ति की जांच की जाए। 

केंद्र ने बनाया बनाया टास्क फोर्स 

केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस से उपजे हालात की निगरानी के लिए एक टॉस्क फोर्स बनाया है। केंद्रीय राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने बताया कि यह टॉस्क फोर्स यह तय करेगा कि इस वायरस को रोकने  लिए क्या उपाय अपनाए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि चीन में रहने वाले ऐसे भारतीय, जो वापस आने के इच्छुक हैं, उन्हें वहां से निकाला जाएगा।

उन्होंने कहा कि जो भी भारत आना चाहते हैं, उन्हें दूतावास से संपर्क करना चाहिए। स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी अपनी यात्रा सलाह को नवीनतम करते हुए कहा है कि लोगों को चीन जाने से बचना चाहिए और वहां से वापस आ रहे लोगों को ऐहतियात के चलते  अलग रखा जाना मुनासिब होगा। 

हनीमून चीन में मनाना पड़ा महंगा, प्रशासन को कोरोना वायरस की आशंका 

चीन में हनीमून मनाने गए एक युवा दंपती को भारी पड़ गया है। यह पति पत्नी गत 28 जनवरी को भारत वापस आए थे और उन्हें खांसी जुकाम की शिकायत के बाद सावधानी बरतते हुए यहां अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आशंका है कि वे कोरोना वायरस से पीड़ित हो सकते हैं इसलिए उन्हें एक अलग वार्ड में रखा गया है। जिला स्वास्थ्य अधिकारी केके सोनी ने बताया कि उनके नमूनों को जयपुर भेजा गया है और एक अन्य टीम को उनके परिवार के दूसरे लोगों की जांच के लिए भेजा जाएगा। 

कोलकाता में जांच की सुविधा 

कोलकाता। पश्चिम बंगाल सरकार ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर दो थर्मल स्कैनर मुहैया कराए हैं ताकि इस वायरस से पीड़ित लोगों की पहचान आसान हो सके। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कोलकाता पोर्ट प्रशासन ने इनका प्रयोग करने का भी प्रारंभ कर दिया है। 

चीन में जानलेवा कोरोनावायरस के चलते मृतकों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। चीन की सरकार द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक अभी तक कोरोनावायरस के चलते 425 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, इससे संक्रमित 64 नए मामले भी सामने आए हैं। पूरे देश में इससे संक्रमित लोगों की संख्या 20,400 हो गई है।

कोरोना वायरस से जूझ रहे चीन में सर्जिकल मास्क और चिकित्सकीय सामानों की कमी हो गई है और उसे इनकी तत्काल जरूरत है। साल 2002 में आए सार्स से भी ज्यादा लोगों की जान ले चुके कोरोना वायरस से चीन में 20 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं।
 

हांगकांग में कोरोना वायरस से पीड़ित एक व्यक्ति की मौत

कोरोनावायरस से पीड़ित 39 वर्षीय एक व्यक्ति की हांगकांग में मौत हो गई। यहां इस वायरस से संक्रमित किसी व्यक्ति की मौत का यह पहला मामला है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की। चीन के बाहर इस वायरस से किसी की जान जाने का यह दूसरा मामला है। इससे पहले फिलिपीन में एक व्यक्ति की मौत इसके कारण हुई थी।


आगे पढ़ें

चीन ने नौ दिन में बनाया 1000 बेड का अस्पताल


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here