China Revises Covid 19 Death Toll In Wuhan – कोरोना संकट: अमरीका की धमकी के बाद चीन के वुहान ने बदला मौत का आंकड़ा, 50 प्रतिशत की दिखाई वृद्धि

0
55


वुहान। कोरोना वायरस से मौतों के आंकड़े में हेरफेर को लेकर अमरीका समेत पूरी दुनिया चीन की आलोचना कर रही है। अमरीका इसे लेकर गंभीर है और वह चीन पर बड़ी कार्रवाई का मन बना रहा है। इस बीच चीन ने वुहान में मौतों के आंकड़े में करीब 50 प्रतिशत की वृद्धि की है। चीन के सरकारी समाचार पत्र ग्‍लोबल टाइम्‍स के अनुसार कोरोना वायरस से वुहान में अब तक 3,869 लोगों की मौत हुई है। चीन ने संशोधित आंकड़े में 1290 लोगों का नाम बढ़ाया है।

चीन ने बताया कि वुहान शहर में मौतों का प्रतिशत 7.7 रहा है। जबकि उसने पहले 5.8 प्रतिशत का आंकड़ा दिया था। गौरतलब है कि वुहान शहर से कोरोना वायरस की शुरुआत हुई थी और अब यह दुनिया के 195 से ज्‍यादा देशों में फैल चुका है। माना जा रहा है कि वुहान शहर में इतने ज्‍यादा मरीज हो गए थे कि यहां पर अस्पतालों की भी संख्या कम हो गई थी। कई लोगों को इस दौरान घर पर ही कोरोना वायरस से मौत हो गई। इन लोगों को नाम कोरोना वायरस से मारे गए लोगों की सूची में शामिल नहीं था।

मौतों के आंकड़े को लेकर ट्रंप ने बोला था हमला

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को कहा था कि कई देश कोरोना वायरस से होने वाली मौतों की संख्या छिपा रहे हैं। ट्रंप का कहना है कि क्या उनकों लगता है कि हम इन आंकड़ों पर यकीन कर लेंगे। दुनिया भर के देश इन आंकड़ों को ईमानदारी से सांझा कर रहे हैं। मगर कुछ देश इसे छिपाने में लगे हुए हैं।

उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के कारण मौतें में सिर्फ 20 फीसदी मौतें हुई हैं,जबकि अमरीका की आबादी पूरी दुनिया का सिर्फ चार फीसदी ही है। ट्रंप ने चीन पर निशाना साधते हुए कहा कि वह इस मामले में बिल्कुल भी ईमानदार नहीं है। ट्रंप ने कहा कि क्या आपको लगता है कि चीन पर किसी को इस मामले में भरोसा करना चाहिए।

फिर फैलेगा कोरोना

कोरोना वायरस सबसे पहले चीन के हुबेई प्रांत के वुहान में फैला था। मगर इस बीच चीन विशेषज्ञों का दावा है कि यहा पर हालात सामान्य हो चुका है। वहीं कुछ का कहना है कि इस संक्रमण से चीन को सावधान रहने की आवश्यता है। दुनिया भर में कोरोना वायरस की वजह से अभी तक 1 लाख 41 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। 195 देशों में फैले इस संक्रमण के अब तक 21 लाख से अधिक मामले आ चुके हैं।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here