Corona virus havoc Aircraft maker Boeing continues to fear to sales below 2020 estimate

0
40


इंसान के साथ अब वाहन उद्योग से लेकर विमान निर्माण उद्योग तक कोरोना वायरस के प्रकोप से नहीं बच पा रहे हैं। चीन में फैला कोरोना वायरस का खतरनाक संक्रमण अब विमान निर्माण उद्योग को भी डराने लगा है। विमान बनाने वाली कंपनियों के ऊपर इसका भारी असर हुआ है और प्रमुख विमान निर्माता कंपनी बोइंग को जनवरी में एक भी नए विमान का ठेका नहीं मिला है। वहीं अमेरिका की सबसे बड़ी कार कंपनी जनरल मोटर्स ने दक्षिण कोरिया स्थित इकाई का परिचालन अगले सप्ताह आंशिक तौर पर निलंबित करने की बुधवार को घोषणा की।

यह भी पढ़ें:बड़ा झटका: 149 रुपये तक बढ़ गए घरेलू गैस सिलेंडर के दाम, अब इस रेट पर मिलेगी गैर सब्सिडी वाली LPG

mother-son investigation report corona not confirmed

बोइंग के उपाध्यक्ष (वाणिज्यिक विपणन) रैंडी टिनसेथ ने बुधवार को सिंगापुर एयर शो में कहा, ”हम अपने उपभोक्ताओं की तरह इस वायरस तथा इसके असर का आकलन करने की कोशिश कर रहे हैं।  उन्होंने कहा, ”इस बात में कोई शक नहीं है कि इसका असर होगा।

यह भी पढ़ें:काम की खबर: सुकन्या समृद्धि समेत इन बचत पर अब भी टैक्स नहीं

टिनसेथ ने कहा कि इस साल विमानन कार्गो कारोबार में वृद्धि स्थिर रह सकती है तथा विमानों की बिक्री की वृद्धि 2.5-2.7 प्रतिशत के पूर्वानुमान से कम रह सकती है।   उन्होंने कहा, ”यदि माल की ढुलाई नहीं होगी, विमान नहीं उड़ेंगे, तो इस साल कार्गो बाजार में कोई वृद्धि हो पाना मुश्किल होगा। हमें इस कारोबार में 14 महीने का संकुचन दिख रहा है।

indian crew record video on diamond princess cruise ship and appeal pm modi to save them from corona

यह भी पढ़ें:शेयर बाजार में जोरदार तेजी, Sensex में 418 अंकों का बंपर उछाल

कोरोनावायरस के संक्रमण के कारण कई देशों और विमानन कंपनियों ने चीन से हवाई संपर्क स्थगित कर दिया है।   बोइंग ने कहा कि उसे अनुमान है कि दक्षिण-पूर्वी एशिया को अगले 20 साल में 710 अरब डॉलर के 4,500 नये विमानों की जरूरत होगी। उसने वियतनाम, थाईलैंड और इंडोनेशिया को 10 सबसे बड़े बाजारों में से एक बताया। कंपनी को अगले 20 साल में वैश्विक स्तर पर 6,800 करोड़ डॉलर के 44,040 नये वाणिज्यिक विमानों की मांग आने का अनुमान है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here