Corona Wreaked Havoc On The World: Italy Overtakes China, 3405 Dead – कोरोना के कहर से सहमी दुनिया: चीन से आगे निकला इटली, अब तक 3405 मरे

0
5


मिलान। कोरोना वायरस के कहर से पूरी दुनिया सहम गई है। यह वायरस चीन के बाद अब इटली में कहर बरपा रहा है। आलम ये है कि एक-एक दिन में कोरोना वायरस की चपेट में आने से सैंकड़ों लोगों की मौत हो रही है।

इसी कड़ी में मरने वालों की संख्या के आधार पर कोरोना वायरस का केंद्र रहे चीन को पीछे छोड़ते हुए 6 करोड़ की आबादी वाला इटली आगे निकल गया है। दुनिया में कोरोना वायरस की वजह से सबसे अधिक मौतें हुई है।

Coronavirus कनिका कपूर के खुलासे के बाद आइसोलेट हुए दुष्यंत सिंह और राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री

गुरुवार को इटली में 427 लोगों की मौत के बाद पूरी दुनिया सहम गई है। इसके साथ ही अब इटली में वायरस की वजह से मरने वालों की कुलस संख्या 3405 हो गई है, जबकि चीन में अभी तक 3245 लोगों की मौत हुई है।

12 मार्च से इटली में लॉकडाउन

आपको बता दें कि इटली में कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए 12 मार्च से ही इटली में लॉकडाउन है, जिसे अब अनिश्चितकालीन के लिए बढ़ा दिया गया है। सरकार ने सख्त आदेश जारी कर दिए हैं कोई भी घर से बाहर नहीं निकलेगा।

इटली में सरकार की ओर से तमाम कोशिशें की जा रही है, इसके बावजूद भी लगातार संक्रमितों और मरने वालों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। इटली में 41 हजार से अधिक लोग अभी कोरोना से संक्रमित हैं, जबकि पूरी दुनिया का बात करें तो संक्रमण के 220, 000 मामले सामने आ चुके हैं। वायरस की चपेट में आने से पूरी दुनिया में 10 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

बता दें कि इटली के प्रधानमंत्री गियूसेप्‍पे कोंटे ने कहा है कि लॉकडाउन ने पूरी व्‍यवस्‍था को बर्बाद होने से बचाया है। स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों का कहना है कि इटCoronavirus कनिका कपूर के खुलासे के बाद आइसोलेट हुए दुष्यंत सिंह और राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्रीली में दुनिया की दूसरी सबसे ज्‍यादा बुजुर्ग आबादी है और जिनकी मौत हुई है, उनमें से 87 फीसदी लोग 70 साल की उम्र से ज्‍यादा के हैं।

इटली में चीन का दबदबा

चीन के बाद इटली में कोरोना वायरस की तबाही का एक कारण ये माना जा रहा है कि इटली में चीन का काफी दबदबा है। चीन इटली समेत दुनिया को सस्ता मैनुफैक्चरिंग उपलब्ध कराता है। कई अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड इटली में मैजूद है। लिहाजा इटली में सस्ते कामगारों के लिए चीनी श्रमिकों को लाया जाता है, इनमें से अधिकांश वुहान के रहने वाले होते हैं

पीएम की अपील को बनाएं सफल, 22 मार्च को न निकलें घरों से बाहर : मंत्री आशुतोष टंडन

एक रिपोर्ट की मानें तो करीब 3 लाख चीनी नागरिक इटली में फैशन इंडस्ट्री समेत अन्य क्षेत्र में काम करते हैं। इनमें से 90 फीसदी लोग इटली की गारमेंट फैक्ट्री में काम करते हैं।

ऐसे में जब ये वायरस सामने आया, तब भी लोगों का आना-जाना लगा रहा और देखते ही देखते इस वायरस ने पूरे इटली को अपनी चपेट में ले लिया।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here