Coronavirus death toll rises to 563 and infected more than 28000 in China The Coronavirus outbreak

0
18


चीन में कोरोना वायरस का कहर जारी है। पूरी दुनिया को सकते में करने वाले इस खतरनाक कोरोना वायरस से चीन में मरने वालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। चीन में इस वायरस से मरने वालों की संख्या करीब 560 पार हो गई है और करीब 28000 से ज्यादा लोग इसकी चपेट में हैं। चीनी अधिकारियों ने कहा कि कोरोना वायरस से मृतकों संख्या 563 हो गई है और अब तक कुल 28 हजार मामले सामने आ गए हैं। 

कोरोना वायरस का कहर अब चीन के बाहर यानी अन्य देशों में भी दिखने लगा है। कोरोना वायरस के संक्रमण के करीब दो दर्जन भर से अधिक देशों में 180 से अधिक मामले सामने आए हैं। जबकि दो लोगों की मौत की भी खबर है। दूसरे देशों में वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 182 हो गई। फिलीपीन में पहली मौत का मामला सामने आया जबकि हांगकांग ने रविवार को एक व्यक्ति की मौत की पुष्टि की थी। 

इससे पहले चीन ने बुधवार को दावा किया कि पिछले दो दिनों में कोरोना वायरस के नए संदिग्ध मामलों की संख्या घटी है । इससे उम्मीदें जगी हैं कि कारगर उपायों की बदौलत इसके प्रसार को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। चीन में इस वायरस के कहर को देखते हुए कई देशों ने ट्रैवल एडवाइजरी जारी कर दी है।

भारत वुहान से अपने 647 छात्रों को निकाल चुका है। मालदीव के सात लोग भी निकाले गए हैं। श्रीलंका और बांग्लादेश ने भी अपने नागरिकों को निकाला है। पाकिस्तान के सैकड़ों छात्र वुहान और हुबेई प्रांत में फंसे हैं लेकिन उसने वहां से अपने लोगों को यह कहते हुए निकालने से मना कर दिया कि चीन ने उनकी समुचित देखभाल का वादा किया है। 

पाकिस्तान की तरह कंबोडिया ने भी चीन से अपने छात्रों और राजनयिकों को वहां से निकालने से इनकार कर दिया। हुन सेन ने बीजिंग के प्रति एकजुटता दिखाते हुए उड़ानें भी रद्द नहीं की जबकि वायरस के संक्रमण के डर से कई बड़ी एयरलाइनों ने सेवा रोक दी है। 

चीनी अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते रोगियों के इलाज के लिए अस्पतालों में बिस्तरों और उपकरणों की भारी कमी है। मध्य हुबेई प्रांत में कोरोना वायरस के 3,156 नए मामले सामने आए हैं। 20 से अधिक देशों में भी कोरोना वायरस के मामले सामने आ चुके हैं। इन नए रोगियों में एक रोगी नवजात है जो पैदा होने के 30 घंटों के भीतर इसकी चपेट में आ गया। वुहान में एक अधिकारी हू लिशान ने बताया कि हजारों अतिरिक्त रोगियों के लिए एक अस्पताल बनाए जाने और सार्वजनिक भवनों को अस्पतालों में परिवर्तित करने के बावजूद अब भी बिस्तरों की भारी कमी है। चीन का वुहान शहर कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित है। इसी शहर में वायरस का सबसे पहला मामला सामने आया था।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here