Coronavirus In Britain: Covid 19 Positive Pregnant Nurse Dies In London, Newborn Baby Safe – लंदन में गर्भवती नर्स की कोरोना वायरस से मौत, नवजात बच्ची सुरक्षित

0
54


ख़बर सुनें

ब्रिटेन में कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद एक गर्भवती नर्स की मौत हो गई, लेकिन उसकी बच्ची का जन्म सफलतापूर्वक हो गया और उसकी हालत ठीक है। एक अस्पताल ने यह बुधवार को जानकारी दी, जहां वह काम करती थी।

लंदन के उत्तरी हिस्से में स्थित ल्यूटन एंड डंस्टेबल यूनिवर्सिटी अस्पताल के एक जनरल वार्ड में नर्स के रूप में काम करने वाली 28 साल की मैरी अग्यीवा अग्यपोंग की रविवार को मौत हो गई। यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि क्या नवजात बच्ची को वायरस से संक्रमित पाया गया है या नहीं।

बेडफोर्डशायर हॉस्पिटल्स एनएचएस फाउंडेशन ट्रस्ट ने कहा कि पांच अप्रैल को अग्यपोंग को वायरस की जांच में संक्रमित पाया गया था और उसे सात अप्रैल को उसी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां वह काम करती थी। ट्रस्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड कार्टर ने कहा, ‘यह बहुत ही दुख की बात है कि हमारी एक नर्स मैरी अग्यीवा अग्यपोंग की रविवार को मृत्यु हो गई।’

उन्होंने कहा, मैरी ने यहां पांच साल काम किया और हमारी टीम की एक बहुत ही सम्मानित और प्रिय सदस्य थी। इस दुख की घड़ी में मैरी के परिवार और दोस्तों के प्रति हमारी गहरी संवेदनाएं हैं। यह मौत ऐसे समय में हुई है जब ब्रिटेन में स्वास्थ्यकर्मियों के लिए प्रदान किए जाने वाले सुरक्षात्मक उपकरणों की कमी को लेकर हंगामा हो रहा है।

इस बीच, ब्रिटेन में 106 साल की कोनी टिटचेन के कोरोना वायरस से उबरने की घोषणा की गई है जो देश में इस बीमारी से ठीक होने वाली सबसे उम्रदराज मरीज मानी जा रही हैं। मध्य इंग्लैंड के बर्मिंघम में सिटी अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि करीब तीन हफ्तों तक बीमार रहने के बाद वह विषाणु से जंग जीत गईं।

ब्रिटेन में कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद एक गर्भवती नर्स की मौत हो गई, लेकिन उसकी बच्ची का जन्म सफलतापूर्वक हो गया और उसकी हालत ठीक है। एक अस्पताल ने यह बुधवार को जानकारी दी, जहां वह काम करती थी।

लंदन के उत्तरी हिस्से में स्थित ल्यूटन एंड डंस्टेबल यूनिवर्सिटी अस्पताल के एक जनरल वार्ड में नर्स के रूप में काम करने वाली 28 साल की मैरी अग्यीवा अग्यपोंग की रविवार को मौत हो गई। यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि क्या नवजात बच्ची को वायरस से संक्रमित पाया गया है या नहीं।

बेडफोर्डशायर हॉस्पिटल्स एनएचएस फाउंडेशन ट्रस्ट ने कहा कि पांच अप्रैल को अग्यपोंग को वायरस की जांच में संक्रमित पाया गया था और उसे सात अप्रैल को उसी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां वह काम करती थी। ट्रस्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड कार्टर ने कहा, ‘यह बहुत ही दुख की बात है कि हमारी एक नर्स मैरी अग्यीवा अग्यपोंग की रविवार को मृत्यु हो गई।’

उन्होंने कहा, मैरी ने यहां पांच साल काम किया और हमारी टीम की एक बहुत ही सम्मानित और प्रिय सदस्य थी। इस दुख की घड़ी में मैरी के परिवार और दोस्तों के प्रति हमारी गहरी संवेदनाएं हैं। यह मौत ऐसे समय में हुई है जब ब्रिटेन में स्वास्थ्यकर्मियों के लिए प्रदान किए जाने वाले सुरक्षात्मक उपकरणों की कमी को लेकर हंगामा हो रहा है।

इस बीच, ब्रिटेन में 106 साल की कोनी टिटचेन के कोरोना वायरस से उबरने की घोषणा की गई है जो देश में इस बीमारी से ठीक होने वाली सबसे उम्रदराज मरीज मानी जा रही हैं। मध्य इंग्लैंड के बर्मिंघम में सिटी अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि करीब तीन हफ्तों तक बीमार रहने के बाद वह विषाणु से जंग जीत गईं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here