Coronavirus In Vietnam: Binh Thuan Province Completely Covid 19 Free, Hospital Staff Got Emotional On The Discharge Of Last Patient  – कोरोना मुक्त हुआ वियतनाम का थुआन, आखिरी मरीज की छुट्टी पर चिल्लाने और रोने लगे अस्पताल कर्मचारी

0
43


ख़बर सुनें

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस महामारी का कहर जारी है। इस बीमारी का सबसे ज्यादा प्रकोप फिलहाल अमेरिका झेल रहा है। पिछले 24 घंटों में वहां 1920 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, दुनिया में कई देश ऐसे भी हैं जिन्होंने काफी हद तक कोरोना वायरस से जंग जीत ली है। ऐसा ही एक देश है वियतनाम।

पूरी तरह कोरोना मुक्त हुआ बिन्ह थुआन प्रांत
वियतनाम के बिन्ह थुआन प्रांत ने कोरोना से जंग जीत ली है और अब वो पूरी तरह से कोविड-19 मुक्त हो चुका है। यहां के एक अस्पताल में जब कोरोना के आखिरी मरीज को छुट्टी दी गई तो पूरा अस्पताल भावुक हो उठा। साउथ सेंट्रल कोस्ट में स्थित सामान्य अस्पताल में डॉक्टर, नर्स और चिकित्सा कर्मचारियों को जब कोरोना के आखिरी मरीज के पूरी तरह ठीक होने की खबर मिली तो वो खुशी से चिल्लाने लगे और एक-दूसरे से लिपटकर रोने लगे।

एक महीने से घर नहीं गए अस्पताल कर्मचारी
चिकित्सा कर्मचारियों के लिए यह खुशी और आंसू इसलिए भी मायने रखते हैं क्योंकि अस्पताल के कोरोना वार्ड में 17 लोगों के स्टाफ में से कोई भी पिछले एक महीने से घर नहीं गया है। अस्पताल के डायरेक्टर डॉ गुएन वान थान्ह ने बताया कि रात करीब 8:30 बजे थे। मरीजों की जांच और दवाई देने के बाद पूरा स्टाफ रात्रि भोजन की तैयारी में लगा हुआ था। 

खुशी से चिल्लाने और रोने लगा पूरा स्टाफ
इसी दौरान खबर मिली कि अस्पताल में भर्ती कोविड-19 के आखिरी मरीज की रिपोर्ट निगेटिव आई है और वह पूरी तरह ठीक हो गया है। यह सुनते ही पूरा स्टाफ खुशी से चिल्लाते हुए लॉबी की तरफ दौड़ने लगा और चिकित्सा कर्मचारियों को रास्ते में जो मिला उसके गले लिपटकर रोने लगे। हर किसी की आंखों में आंसू थे। 

अस्पताल के डायरेक्टर के मुताबिक हमारे यहां से ठीक हुआ यह 36वां और एक ही दिन में 11वां मरीज था। अस्पताल में संक्रामक रोग विभाग के प्रमुख डॉ डूंग थी लोइ ने कहा कि हम भावनाओं पर काबू नहीं रख सके। ये खुशी के आंसू हैं। हमारे पास सुविधाएं नहीं हैं।

सीमित संसाधनों में से जीती कोरोना से जंग
उन्होंने कहा कि सीमित संसाधनों में हम कोरोना मरीजों के इलाज में दिन-रात जुटे रहे। सभी ने खुद को अस्पताल में ही क्वारंटाइन कर रखा था। हम लोग परिवार वालों से सिर्फ चैट और वीडियो कॉल के जरिए बात करते थे। अब जब सब ठीक हो चुका है तो उम्मीद है कि जल्द ही हम परिवार से भी मिल सकेंगे।

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस महामारी का कहर जारी है। इस बीमारी का सबसे ज्यादा प्रकोप फिलहाल अमेरिका झेल रहा है। पिछले 24 घंटों में वहां 1920 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, दुनिया में कई देश ऐसे भी हैं जिन्होंने काफी हद तक कोरोना वायरस से जंग जीत ली है। ऐसा ही एक देश है वियतनाम।

पूरी तरह कोरोना मुक्त हुआ बिन्ह थुआन प्रांत
वियतनाम के बिन्ह थुआन प्रांत ने कोरोना से जंग जीत ली है और अब वो पूरी तरह से कोविड-19 मुक्त हो चुका है। यहां के एक अस्पताल में जब कोरोना के आखिरी मरीज को छुट्टी दी गई तो पूरा अस्पताल भावुक हो उठा। साउथ सेंट्रल कोस्ट में स्थित सामान्य अस्पताल में डॉक्टर, नर्स और चिकित्सा कर्मचारियों को जब कोरोना के आखिरी मरीज के पूरी तरह ठीक होने की खबर मिली तो वो खुशी से चिल्लाने लगे और एक-दूसरे से लिपटकर रोने लगे।

एक महीने से घर नहीं गए अस्पताल कर्मचारी
चिकित्सा कर्मचारियों के लिए यह खुशी और आंसू इसलिए भी मायने रखते हैं क्योंकि अस्पताल के कोरोना वार्ड में 17 लोगों के स्टाफ में से कोई भी पिछले एक महीने से घर नहीं गया है। अस्पताल के डायरेक्टर डॉ गुएन वान थान्ह ने बताया कि रात करीब 8:30 बजे थे। मरीजों की जांच और दवाई देने के बाद पूरा स्टाफ रात्रि भोजन की तैयारी में लगा हुआ था। 

खुशी से चिल्लाने और रोने लगा पूरा स्टाफ
इसी दौरान खबर मिली कि अस्पताल में भर्ती कोविड-19 के आखिरी मरीज की रिपोर्ट निगेटिव आई है और वह पूरी तरह ठीक हो गया है। यह सुनते ही पूरा स्टाफ खुशी से चिल्लाते हुए लॉबी की तरफ दौड़ने लगा और चिकित्सा कर्मचारियों को रास्ते में जो मिला उसके गले लिपटकर रोने लगे। हर किसी की आंखों में आंसू थे। 

अस्पताल के डायरेक्टर के मुताबिक हमारे यहां से ठीक हुआ यह 36वां और एक ही दिन में 11वां मरीज था। अस्पताल में संक्रामक रोग विभाग के प्रमुख डॉ डूंग थी लोइ ने कहा कि हम भावनाओं पर काबू नहीं रख सके। ये खुशी के आंसू हैं। हमारे पास सुविधाएं नहीं हैं।

सीमित संसाधनों में से जीती कोरोना से जंग
उन्होंने कहा कि सीमित संसाधनों में हम कोरोना मरीजों के इलाज में दिन-रात जुटे रहे। सभी ने खुद को अस्पताल में ही क्वारंटाइन कर रखा था। हम लोग परिवार वालों से सिर्फ चैट और वीडियो कॉल के जरिए बात करते थे। अब जब सब ठीक हो चुका है तो उम्मीद है कि जल्द ही हम परिवार से भी मिल सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here