Coronavirus lockdown: keep an eye on eating in corona virus lockdown or else weight will increase

0
7


कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए हमने दैनिक कॉलम शुरू किया है। प्रस्तुत है अगली कड़ी.

घर में रहने के दौरान बहुत से लोग अपने ज्यादा खाने की आदत से परेशान होने लगे हैं। कई लोग लॉक डाउन से जुड़ी चिंता से बचने के लिए खुद को बिजी रखना चाहते हैं और इश वजह से हर वक्त कुछ न कुछ खाते रहते हैं। मनोवैज्ञानिक मानते हैं कि अकेलेपन या किसी डर से बचने के लिए लोग स्वादिष्ट भोजन में खुशी ढ़ूढ़ने लगते हैं। डायटीशियन कहते हैं कि क्वारंटाइन के वक्त पैदा हुई आदतों के करण लोगों का वजन आचनाक से बढ़ सकता है। जिससे उन्हें शारीरिक समस्याएं पैदा हो सकती है। वह बताते हैं कि इसे कैसे निपटे:

क्या पेशाब और मल से व्यक्ति में हो सकता है कोविड-19 संक्रमण?, जानें कोरोना वायरस के ऐसे ही मिथक और उनकी हकीकत
 
कम संसाधन में जीना सिखाएं अपने बच्चों को बताएं कि जब पूरी दुनिया को एक-दूसरे के साथ की जरूरत है तो हम ऐसे वक्त में कम से कम संसाधन में जिएंगे। हम खाने के लिए जीने की जगह जीने के लिए खाएंगे। आप जब घर में इस बात का पालन करेंगे तो आपके बच्चे भी खुद को जिम्मेदार महसूस करेंगे।
 
चिंता से बढ़ता है वजन जब हम चिंता करते हैं तो शरीर में स्टेरॉयड हार्मोन ‘कॉर्टिसॉल’ की मात्रा बढ़ जाती है जो बसा की मात्रा बढ़ा देती है। इससे शरीर का वजन अनियंत्रित ढंग से बढ़ने लगता है। ऐसे में आप फिजिकल वर्क न करें तो वजन बढ़ना तय है।
 
भोजन के बीच अंतराल रखें अक्सर परिवारवाले अपने बच्चों को स्नेह में खाने-पीने से टोकते नहीं हैं। डायटीशियन सलाह देते हैं कि अपने और बच्चों के खाने का एक डायट चार्ट बनाएं। तय समय पर ही खाएं और दो समय के भोजन के बीच अंतराल रखें। बार-बार नमकीन, बिस्कुट न खाएं और इस डायट चार्ट का पूरा पालन करें।
 
व्यवहार पर नजर रखें बच्चों और अपने व्यवहार पर नजर रखें ताकि चिंता के लक्षण नजरअंदाज न होने पाएं। साथ ही ऐसा न हो कि बच्चा टीवी देखते-देखते घंटों खाना खाता रहे या फिर खेल में खाना भूल जाए। बच्चे चिड़चिड़े हो रहे हों या कम नींद लें तो सतर्क हो जाएं। बच्चों को बताएं कि स्कूल खुलने पर उनके ऊपर पढ़ाई का बोझ नहीं बढ़ेगा। उन्हें यह समय अलग न लगे इसलिए उन्हें एक तय रूटीन में रखेंं।
 
खेल-खेल में कसरत कराएं अपने बच्चों को शारीरिक रूप से घर में सक्रिय रखने के लिए जरूरी है कि वे हर दिन उतना ही खेले जितने स्कूल और पार्क में खेलने जाते थे। इसके लिए अपने घर के सभी सदस्यों का सहयोग लें। सभी साथ में बैठकर ऐसे खेल खेले जिसमें सभी की कसरत भी हो जाए। इस तरह आपका भी समय कटेगा और बच्चे जो भी खाएंगे वो पचता रहेगा। बच्चों के खिलौनों को जरूर संक्रमण रहित करते रहे, जिसके लिए गर्म पानी का इस्तेमाल करें।
 
गाजर: इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो पाचन शक्ति बढ़ाता है औ वजन नियंत्रित रखता है। चुकंदर: इसमें भी वजन घटाने वाला फाइबर पाया जाता है। इसका सलाद या जूस लेने से भूख कम लगती है। दालचीनी- न्यूट्रीशन साइंस और विटमिनोलॉजी की रिपोर्ट के अनुसार दालचीनी के नियमित सेवन से वजन कम होगा। मेथी बीज : यह मेटाबॉलिज्म को ठीक रख खाने की इच्छा को कम करता है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here