Coronavirus Outbreak In Japan – कोरोन वायरस से संक्रमित भारतीय ने वीडियो जारी किया, जापान से 20 फरवरी को वापसी की उम्मीद

0
22


बिनोय कुमार सरकार क्रूज जहाज में सवार था, जापान के तट पर मौजूद है जहाज

टोक्यों। जापान के तट पर बीते कई दिनों से खड़े क्रूज जहाज डायमंड प्रिंसेस के चालक दल का एक और भारतीय सदस्य कोरोना वायरस (Coronavirus)से संक्रमित पाया गया है। यह सदस्य पश्चिम बंगाल का रहने वाला है। इसका नाम बिनोय कुमार सरकार है। उनके साथ क्रूज जहाज पर सवार कई अन्य सदस्य भी पीड़ित बताए जा रहे हैं। बिनोय कुमार सरकार ने हाल ही में एक वीडियो जारी किया है।

अदालत ने शरीफ को पेशी से दी छूट, सुनवाई 28 फरवरी तक के लिए स्थगित

बिनोय इससे पहले भी सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर चुके हैं। इसमें उन्होंने अपने हालात का जिक्र किया है। वीडियो में उन्होंने 20 फरवरी तक उत्तरी दिनाजपुर स्थित अपने घर वापसी की आशा जताई है। इतना ही नहीं, उसने क्रूज जहाज के हालात की भी जानकारी दी है। बिनोय के मुताबिक इस क्रूज जहाज पर 38 लोग कोरोना वायरस से पीड़ित हैं।

बिनोय ने अपने वीडियो में डॉक्टरों का जिक्र किया। इसके साथ यहां के हालात के बारे में विवरण किया। एक जापानी डॉक्टर उन सब की मदद कर रहा है। वीडियो में बिनोय ने बताया कि जापान के एक जाने-माने डॉक्टर हैं जो उनकी काफी मदद कर रहे हैं। उनसे निवेदन किया है कि वो क्रूज जहाज पर सवार सभी यात्रियों का मेडिकल टेस्ट करवा दें।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जापानी दूतावास में बातचीत कर भारतीय की मदद की अपील की है। वहीं विदेश मंत्रालय भी इसपर काम कर रहा है। बिनोय ने इस गंभीर मुद्दे पर सभी से किसी तरह की राजनीति नहीं करने की अपील की है। उनका कहना है कि वह इस मुद्दे पर किसी तरह का कोई राजनीतिकरण नहीं चाहते हैं। वह पश्चिम बंगाल के एक साधारण से आदमी हैं।

वहीं दिनाजपुर में उसके परिवारवाले भी बिनोय सरकार की वापसी को लेकर आशा जताई है। हालांकि वो काफी चिंतित भी हैं। बिनोय की मां कहती हैं कि उनका बेटा जापान में एक जहाज में फंसा है। यहां पर 41 लोग कोरोना वायरस से ग्रसित हैं।

गौरतलब है कि जहाज पर सवार 218 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, जिसमें तीन भारतीय क्रू सदस्य भी शामिल हैं। भारतीय नागरिक समेत सभी 218 लोगों को आगे के इलाज और लोगों से अलग रखने के लिए अस्पताल ले जाया गया है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here