Curry Leaves Cure Diabetes And Bring Blood Sugar Levels Down – Curry Leaves in Diabetes: मधुमेह में फायदेमंद है करी पत्ता, जानिए कैसे हाेता है फायदा

0
33


Curry Leaves Cure Diabetes: करी पत्तों को स्वाभाविक रूप से इंसुलिन गतिविधि को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है, जो उच्च रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए एक महत्वपूर्ण क्रिया है। इसके अलावा, करी पत्ते के नियमित सेवन से उच्च कोलेस्ट्रॉल के स्तर को प्रभावी ढंग से कम किया जा सकता है, जो मधुमेह के दुष्प्रभावों में से एक है…

Curry Leaves Cure Diabetes in Hindi: भारतीय रसोई में करी पत्ता एक जायकेदार मसाले के तौर पर जाना जाता है। दाल, सब्जी, यहां तक कि खिचड़ी के तड़के में भी करी पत्ते का उपयोग किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि करी पत्ता सिर्फ खाने का स्वाद ही नहीं बढ़ाता, बल्कि यह सेहत को भी बहुत फायदा पहुंचाता है। इसके स्वास्थ्य लाभों में अच्छे पाचन, बेहतर हृदय स्वास्थ्य और स्वस्थ त्वचा और बाल शामिल हैं। इसके अलावा आपको यह जानकर आश्चर्य होगा की करी पत्ता रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में सहायक होता है। आइए जानते हैं मधुमेह प्रबंधन में करी पत्ता ( Diabetes Management ) कैसे मदद करता है:-

डायबिटीज की रोकथाम: मधुमेह प्रबंधन के लिए करी पत्ता ( Curry Leaves For Diabetes Management )
विशेषज्ञों के अनुसार करी पत्तों का नियमित सेवन उच्च रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए एक प्रभावी उपाय है। करी पत्ता कई एंटीऑक्सिडेंट, विशेष रूप से फ्लेवोनोइड्स के साथ पावर-पैक हैं। ये फ्लेवोनोइड्स शरीर के अंदर ग्लूकोज में स्टार्च के चयापचय को रोक कर रक्त शर्करा नियंत्रण में मदद करते हैं। इन पत्तियों में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल गुण भी होते हैं।

करी पत्तों को स्वाभाविक रूप से इंसुलिन गतिविधि को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है, जो उच्च रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए एक महत्वपूर्ण क्रिया है। इसके अलावा, करी पत्ते के नियमित सेवन से उच्च कोलेस्ट्रॉल के स्तर को प्रभावी ढंग से कम किया जा सकता है, जो मधुमेह के दुष्प्रभावों में से एक है।

इंसुलिन गतिविधि को बढ़ावा
इंसुलिन जो अग्न्याशय द्वारा स्रावित होता है। इंसुलिन रक्त में शर्करा के टूटने में मदद करता है। जब शरीर इंसुलिन स्रावित करना बंद कर देता है या शर्करा को तोड़ने में असमर्थ होता है, जिससे मधुमेह होता है। करी पत्ते इंसुलिन गतिविधि को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। जिससे रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित किया जाता है।

एंटी-हाइपरग्लाइकेमिक गुण
इंटरनेशनल जर्नल ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार करी पत्ते में एंटी-हाइपरग्लाइकेमिक गुण होते हैं जिन्होंने चूहों में रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित किया।

फाइबर से भरपूर
फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ मधुमेह वाले लोगों के लिए फायदेमंद पाए गए हैं। वे शरीर में शर्करा के अवशोषण को धीमा करने में मदद कर सकते हैं, जिससे रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित किया जा सकता है। करी पत्ता भी फाइबर में भरपूर होता है।

How Use curry Leaves in Diabetes
विशेषज्ञों के अनुसार संतुलित आहार और नियमित व्यायाम सहित एक स्वस्थ जीवन शैली और करी पत्ते का उपयोग मधुमेह प्रबंधन में मदद कर सकता है। करी पत्ते का सब्जी, सलाद, सूप, स्टॉज या चटनी या हर्बल चाय के रूप में सेवन किया जा सकता है।












LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here