Digital Celebration Of Akshaya Tritiya 2020, Online Shopping On Gold – Akshaya Tritiya 2020: पर देश में Digital Celebration, Online Gold की खरीदारी

0
43


  • कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से देश में सभी दुकानें हैं बंद
  • गृह मंत्रालय के आदेश के बाद गुजरात और ओडिशा में खुली हैं कुछ दुकानें
  • पिछले साल अक्षय तृतीया पर देश में 23 टन सोने की हुई थी खरीदारी

नई दिल्ली। देश में आज अक्षय तृतीया 2020 ( Akshaya Tritiya 2020 ) कोरोना वायरस लॉकडाउन ( Coronavirus Lockdown ) के साए में सेलीब्रेट हो रहा है। यह सेलीब्रेशन दुकानों पर जाकर नहीं बल्कि डिजिटली यानी ऑनलाइन हो रहा है। देश में कुछेक राज्यों को छोड़ दिया जाए तो सर्राफा बाजार बंद है। खास बात तो ये है कि रविवार होने के कारण मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज ( Multi Commodity Exchange ) भी पूरी तरह से बंद पड़ा है। ऐसे में रत्न-आभूषणों के खरीदारों को आकर्षित करने के लिए ब्रांडेड ज्वेलर्स की ओर से ऑनलाइन खरीदारी का ऑफर दिया है। लॉकडाउन खुलने के बाद खरीदार अपने सोने की डिलीवरी ले पाएंगे। कोरोना के कहर के कारण बदलते काम के तरीके के बीच इस साल अक्षय तृतीया भी डिजिटल ढंग से ही मनेगी क्योंकि देशव्यापी लॉकडाउन के कारण लोग घरों से निकल नहीं पा रहे हैं और ज्यादातर शहरी क्षेत्रों आभूषणों की दुकानें बंद हैं।

ओडिशा और गुजरात में दुकानें खुली
इंडिया बुलियन ज्वेलर्स एसोसिएशन के नेशनल सेक्रेटरी सुरेंद्र मेहता ने आईएएनएस को बताया कि अक्षय तृतीया सोने की खरीदारी का शुभ मुहूर्त है, इसलिए आभूषण कारोबारियों ने अपने ग्राहकों को ऑनलाइन सोना खरीदने का ऑफर दिया है। हालांकि केंद्रीय गृह मंत्रालय के हालिया आदेश के बाद देश के कई इलाकों में दुकानें खुल रही हैं। मेहता ने बताया कि गुजरात और ओडिशा में आभूषणों की दुकानें खुल रही हैं।

केंद्र सरकार ने लिया था यह फैसला
केंद्र सरकार द्वारा 15 अप्रैल से लॉकडाउन में दी गई ढील के तहत ग्रीन जोन यानी जहां कोरोना संक्रमण के कोई मामले नहीं आए हैं उन इलाकों में दुकानें खोलने की इजाजत दी गई है, मगर दुकानों में काम करने वाले लोगों की तादाद पहले मुकाबले 50 फीसदी से अधिक नहीं होगी। लेकिन मॉलों में स्थित दुकानें नहीं खुलेंगी।

पिछले साल 23 टन हुई थी सोने की खरीदारी
पिछले साल अक्षय तृतीया पर देश में 23 टन सोने की खरीदारी हुई थी। मेहता का अनुमान है कि डिजिटल लिवाली अच्छी रहने और जिन क्षेत्रों में दुकानें खुल रही हैं वहां की हाजिर खरीद को मिलाकर भी बमुश्किल से पिछले साल के मुकाबले तकरीबन 10-15 फीसदी सोने की खरीदारी हो पाएगी।

सोना खरीदने का तरीका बदला
केडिया एडवायजरी के डायरेक्टर अजय केडिया ने कहा कि कोरोना ने बेशक हमारे काम करने का तरीका बदल दिया है और जिस तरह बैठकें डिजिटल होने लगी हैं उसी तरह सोने की खरीदारी भी इस साल अक्षय तृतीया पर डिजिटल होगी। उन्होंने कहा कि कोरोना के कहर के चलते छायी वैश्विक मंदी की आशंकाओं के बीच सोने में तेजी की संभावना लगातार बनी हुई है। इसलिए, निवेश के मकसद से लोग सोने की खरीदारी को उत्साहित हो सकते हैं।

स्पॉट परचेंजिंग में कम हुई दिलचस्पी
हालांकि, जेम एंड ज्वेलरी ट्रेड काउंसिल ऑफ इंडिया के प्रेसीडेंट शांतिभाई पटेल कहते हैं कि आभूषणों की हाजिर खरीद में लोगों की दिलचस्पी कम है क्योंकि कोरोना संक्रमण के खतरे के कारण शादी-समारोह नहीं हो रहे हैं जिसके लिए भारत में सोना, चांदी जैसी महंगी घातुओं व रत्न-आभूषणों की खरीद ज्यादा होती है।

आखिर क्या है सोने के भाव
एजेंल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट ( कमोडिटी एंड रिसर्च ) अनुज गुप्ता ने बताया कि बात वायदा बाजार की करें तो शनिवार और रविवार को बाजार बंद होता है। शुक्रवार को सोने के दाम रात साढ़े 11 बजे बाजार बंद होने तक सोने के दाम जून अनुबंध 163 रुपए प्रति दस ग्राम की बढ़त के साथ 46,590 रुपए प्रति दस ग्राम पर थे। जबकि मई अनुबंध सोना 124 रुपए प्रति दस ग्राम की बढ़त के साथ 46,599 रुपए प्रति दा ग्राम पर था। उन्होंने 25 मार्च से देश के सर्राफा बाजार पूरी तरह से बंद हैं। ऐसे में स्पॉट में क्या दाम होंगे यह बता पाना काफी मुश्किल है। अगर बात विदेशी बाजारों की करें तो आखिरी कारोबारी दिन कॉमेक्स पर गोल्ड 9.80 डॉलर प्रति ओंस की गिरावट के साथ 1,735.60 डॉलर प्रति ओंस दाम हैं। वहीं यूरोपियन मार्केट में सोना 9.60 यूरो प्रति ओंस की गिरावट के साथ 1,596.02 यूरो प्रति ओंस सोने के दाम थे।







Show More
















LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here