Does corona infection also spread with shoes clothing or polybags

0
59


कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ने से दुनियाभर में कोहराम मचा हुआ है। इसको लेकर लोगों में तरह-तरह के सवाल उठ रहे हैं कि कोरोना वायरस का संक्रमण कैसे फैलता है और इससे कैसे बचा जा सकता है? हर दिन दुनियाभर में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है और इससे होने वाली मौतों का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। कई देशों की सरकारों द्वारा लोगों से सावधानियां बरतने को कहा जा है। इसमें साफ-सफाई का ध्यान रखने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना शामिल है। आज हालात इतने बेकाबू हो गए हैं कि बाजार में मिलने वाले सामानों को खरीदते समय भी सावधानी बरतने के लिए अपील की जा रही है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि और कौन सी ऐसी चीजें हैं, जिनसे संक्रमण फैलने का खतरा हो सकता। यह जानना बेहद जरूरी हो गया है।
 
जूते और चप्पल से संक्रमण
एक शोध में यह पाया गया है कि जूते के सोल या चप्पल में बैक्टीरिया, फंगस और वायरस चिपक जाते हैं। जब हम घर पहुंचते हैं तो संक्रमण आसानी से फैल जाता है। ऐसा माना जा रहा है कि जूते के सोल में वायरस 5 दिन तक जीवित रह सकता है। जूतों या चप्पल से यह संक्रमण इसलिए फैल सकता है, क्योंकि जिस जगह पर संक्रमित व्यक्ति ने थूका हो या वहां पर वह खासा या छिंका हो तो उसके ड्रॉपलेट्स भी जमीन पर गिर जाते हैं। यदि कोई अन्य व्यक्ति वहां गया हो तो इस बात की पूरी आशंका है कि जूते या चप्पल से वह संक्रमण फैल सकता है। www.myupchar.com से जुड़े डॉ. आयुष पांडे के अनुसार, यही कारण है कि फंगल से बचने के लिए जूतों में एंटी फंगल पावडर का उपयोग किया जाता है।
 
पॉलीबैग से संक्रमण
कई शोधों में यह बात सामने आई है कि प्लास्टिक पर कोरोना वायरस का संक्रमण 3 से 4 दिन तक जीवित रह सकता है। इसलिए इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि बाहर से कोई भी चीज खरीद रहे हों तो पॉलिथीन का इस्तेमाल बिल्कुल भी ना करें। इसके बजाय घर से ही कपड़े का थैला ले जाएं तो सुरक्षित रहेंगे।
 
कपड़ों से संक्रमण
यदि आप बाहर जा रहे हैं तो इस बात की भी आशंका है कि कोरोना वायरस का संक्रमण आपके कपड़ों पर भी लग सकता है, जो आसानी से आपको या आपके परिवार के किसी सदस्य को संक्रमित कर सकता है, इसलिए जब भी बाहर से आएं कपडों को तुरंत धोएं।
 
इन छोटी-छोटी बातों का भी रखें ध्यान
कोरोना वायरस से पीड़ित व्यक्ति के संपर्क में आने से बचें, जिन्हें जुकाम या खांसी जैसे लक्षण दिखें, उनसे 2 मीटर की दूरी बनाए रखें।  
आंख, मुंह या नाक पर हाथ लगाने से बचें। इसके अलावा हाथों को हर 1 घंटे में साबुन से 20 सेकंड के लिए धोते रहें।
छींक या खांसी आने पर मुंह को टिशू पेपर से ढकें।
मोबाइल या अन्य चीजों को साफ करते रहें। इससे भी कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव होगा।
सर्दी, खांसी या सांस में तकलीफ होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।
बाहर जाते समय मुंह पर मास्क लगाकर ही निकलें। बाहर से आने के बाद हाथों को अच्छी तरह से धोएं और इसके बाद सैनेटाइजर का इस्तेमाल करना न भूलें।
 
अधिक जानकारी के लिए देखें : https://www.myupchar.com/disease/covid-19/transmission-stages-and-spread-of-disease/can-coronavirus-spread-through-clothes-shoes
स्वास्थ्य आलेख www.myUpchar.com द्वारा लिखे गए हैं, जो सेहत संबंधी भरोसेमंद जानकारी प्रदान करने वाला देश का सबसे बड़ा स्रोत है। 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here