Donald Trump Impeachment Senators Hear Closing Arguments – ट्रंप ने आयोवा काकस जीता, महाभियोग की सुनवाई भी खत्म, आज वोटिंग में होगा फैसला

0
52


ख़बर सुनें

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पर विपक्षी डेमोक्रेट पार्टी ने अंतिम बहस सोमवार को खत्म की। महाभियोग के मुकदमे पर अन्य सीनेटरों को अपनी राय रखने की अनुमति मंगलवार को दी जाएगी। लेकिन सीनेट का पूरा ध्यान ट्रंप द्वारा तीसरा ‘स्टेट ऑफ द यूनियन एड्रेस’ (दोनों सदनों के संयुक्त सत्र के लिए राष्ट्रपति द्वारा दिया वार्षिक संबोधन) के कार्यक्रम पर रहेगा।

अब अंतिम वोटिंग में फैसला होगा कि ट्रंप को राष्ट्रपति के पद से हटाया जाए या नहीं। अंतिम वोटिंग बुधवार शाम को करीब चार बजे होगी।

ट्रंप ने आयोवा कॉकस जीता

रिपब्लिकन पार्टी के सदस्यों ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के नाम का मजबूती से समर्थन किया और इसी के साथ ट्रंप ने सोमवार को आयोवा कॉकस में जीत हासिल की।स्थानीय डेस मोइनेस रजिस्टर के अनुसार इस वर्ष आयोवा कॉकस में डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति पद के लिए 12 से अधिक उम्मीवदारों के बीच मुकाबला था। वहीं ट्रंप को सोमवार रात पार्टी के 95 फीसदी मत हासिल हुए।

डेस मोइनेस रजिस्टर में कहा गया कि राष्ट्रपति ट्रंप ने फिर से आयोवा में रिपब्लिकन समर्थन हासिल कर लिया है। ट्रंप ने इसे पहले कहा था कि आयोवा में रिपब्लिकंस बाहर निकलें और कॉकस में शामिल हों। चीन, मेक्सिको, कनाडा, जापान, दक्षिण कोरिया और अधिक के साथ व्यापार समझौते हो चुके हैं। दशकों तक इंतजार करने के बाद हमारे किसानों, चरवाहों, उत्पादनकर्ताओं और सब के लिए अच्छे दिन आ रहे हैं। कोई भी इन सब से बाहर नहीं ला सकता था।

गौरतलब है कि अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव में राजनीतिक दलों को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों के चयन के लिए प्रत्येक 50 राज्यों में कॉकस अथवा प्राइमरी के जरिए लोकतांत्रिक प्रक्रिया से गुजरना होता है।
प्राइमरी के विजेताओं को दोनों दल अपना उम्मीदवार घोषित करते हैं फिर वही उम्मीदवार राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ते हैं।

सोमवार को बहस के दौरान सीनेट में डेमोक्रेट नेता एडम शिफ ने कहा था कि इतिहास कभी ट्रम्प के साथ दया नहीं दिखाएगा। उन्होंने कहा कि हम सब सच्चाई जानते हैं। अगर सदन में उन्हें बचाने के लिए वोटिंग हुई, तो आप सब अपना नाम इतिहास में उनके साथ ही जुड़ा पाएंगे। 

ट्रंप पर अपने पद का दुरुपयोग करते हुए अमेरिका के मित्र राष्ट्र यूक्रेन पर जो बिडेन के खिलाफ जांच शुरू करने की घोषणा करने का दबाव बनाने के आरोप में दिसंबर में महाभियोग की कार्रवाई शुरू की गई थी।

शिफ ने ट्रम्प के चरित्र पर सवाल उठाते हुए कहा कि ट्रम्प अब तक नहीं बदले हैं, वे कभी नहीं बदलेंगे। वे पहले भी बेईमानी की कोशिश कर चुके हैं और आगे भी करेंगे। वे तब तक चुनाव में गड़बड़ी की कोशिश करेंगे, जब तक जीत नहीं जाते।

इससे पहले शुक्रवार को रिपब्लिकन पार्टी के बहुमत वाली अमेरिकी संसद के उच्च सदन (सीनेट) ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के विरुद्ध महाभियोग मुकदमे के लिए नए गवाहों और दस्तावेजों को पेश करने वाले डेमोक्रेट पार्टी के प्रस्ताव को मामूली अंतर से खारिज कर दिया था। 

राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ डेमोक्रेट सांसदों ने नए गवाहों को पेश करने की अनुमति मांगी थी ताकि पूर्व एनएसए बोल्टन की यूक्रेन की मदद रोकने के संबंध में गवाही कराई जा सके। लेकिन विपक्ष के इस प्रस्ताव पर रोक के लिए 51 मत पड़े जबकि पक्ष में 49 मत डाले गए। 100 सदस्यों वाली सीनेट में रिपब्लिकनों के पास 53 और डेमोक्रेटों के पास 47 सीटें हैं। डेमोक्रेट्स को व्हाइट हाउस से ट्रम्प को हटाने के लिए 67 मतों की आवश्यकता है।

 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पर विपक्षी डेमोक्रेट पार्टी ने अंतिम बहस सोमवार को खत्म की। महाभियोग के मुकदमे पर अन्य सीनेटरों को अपनी राय रखने की अनुमति मंगलवार को दी जाएगी। लेकिन सीनेट का पूरा ध्यान ट्रंप द्वारा तीसरा ‘स्टेट ऑफ द यूनियन एड्रेस’ (दोनों सदनों के संयुक्त सत्र के लिए राष्ट्रपति द्वारा दिया वार्षिक संबोधन) के कार्यक्रम पर रहेगा।

अब अंतिम वोटिंग में फैसला होगा कि ट्रंप को राष्ट्रपति के पद से हटाया जाए या नहीं। अंतिम वोटिंग बुधवार शाम को करीब चार बजे होगी।

ट्रंप ने आयोवा कॉकस जीता

रिपब्लिकन पार्टी के सदस्यों ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के नाम का मजबूती से समर्थन किया और इसी के साथ ट्रंप ने सोमवार को आयोवा कॉकस में जीत हासिल की।स्थानीय डेस मोइनेस रजिस्टर के अनुसार इस वर्ष आयोवा कॉकस में डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति पद के लिए 12 से अधिक उम्मीवदारों के बीच मुकाबला था। वहीं ट्रंप को सोमवार रात पार्टी के 95 फीसदी मत हासिल हुए।

डेस मोइनेस रजिस्टर में कहा गया कि राष्ट्रपति ट्रंप ने फिर से आयोवा में रिपब्लिकन समर्थन हासिल कर लिया है। ट्रंप ने इसे पहले कहा था कि आयोवा में रिपब्लिकंस बाहर निकलें और कॉकस में शामिल हों। चीन, मेक्सिको, कनाडा, जापान, दक्षिण कोरिया और अधिक के साथ व्यापार समझौते हो चुके हैं। दशकों तक इंतजार करने के बाद हमारे किसानों, चरवाहों, उत्पादनकर्ताओं और सब के लिए अच्छे दिन आ रहे हैं। कोई भी इन सब से बाहर नहीं ला सकता था।

गौरतलब है कि अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव में राजनीतिक दलों को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों के चयन के लिए प्रत्येक 50 राज्यों में कॉकस अथवा प्राइमरी के जरिए लोकतांत्रिक प्रक्रिया से गुजरना होता है।
प्राइमरी के विजेताओं को दोनों दल अपना उम्मीदवार घोषित करते हैं फिर वही उम्मीदवार राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ते हैं।

सोमवार को बहस के दौरान सीनेट में डेमोक्रेट नेता एडम शिफ ने कहा था कि इतिहास कभी ट्रम्प के साथ दया नहीं दिखाएगा। उन्होंने कहा कि हम सब सच्चाई जानते हैं। अगर सदन में उन्हें बचाने के लिए वोटिंग हुई, तो आप सब अपना नाम इतिहास में उनके साथ ही जुड़ा पाएंगे। 

ट्रंप पर अपने पद का दुरुपयोग करते हुए अमेरिका के मित्र राष्ट्र यूक्रेन पर जो बिडेन के खिलाफ जांच शुरू करने की घोषणा करने का दबाव बनाने के आरोप में दिसंबर में महाभियोग की कार्रवाई शुरू की गई थी।

शिफ ने ट्रम्प के चरित्र पर सवाल उठाते हुए कहा कि ट्रम्प अब तक नहीं बदले हैं, वे कभी नहीं बदलेंगे। वे पहले भी बेईमानी की कोशिश कर चुके हैं और आगे भी करेंगे। वे तब तक चुनाव में गड़बड़ी की कोशिश करेंगे, जब तक जीत नहीं जाते।

इससे पहले शुक्रवार को रिपब्लिकन पार्टी के बहुमत वाली अमेरिकी संसद के उच्च सदन (सीनेट) ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के विरुद्ध महाभियोग मुकदमे के लिए नए गवाहों और दस्तावेजों को पेश करने वाले डेमोक्रेट पार्टी के प्रस्ताव को मामूली अंतर से खारिज कर दिया था। 

राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ डेमोक्रेट सांसदों ने नए गवाहों को पेश करने की अनुमति मांगी थी ताकि पूर्व एनएसए बोल्टन की यूक्रेन की मदद रोकने के संबंध में गवाही कराई जा सके। लेकिन विपक्ष के इस प्रस्ताव पर रोक के लिए 51 मत पड़े जबकि पक्ष में 49 मत डाले गए। 100 सदस्यों वाली सीनेट में रिपब्लिकनों के पास 53 और डेमोक्रेटों के पास 47 सीटें हैं। डेमोक्रेट्स को व्हाइट हाउस से ट्रम्प को हटाने के लिए 67 मतों की आवश्यकता है।

 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here