Eat 5 Nutrients In Your Diet To Stay Healthy During Covid-19 Lockdown – Healthy Diet: अच्छी सेहत के जरूरी हैं ये 5 पोषक तत्व, लॉकडाउन में न करें इनकी अनदेखी

0
8


Healthy Diet: मैग्नीशियम 300 से ज्यादा बायोकैमिकल प्रतिक्रियाएं करता है। जब हम भोजन करते हैं तो यह उससे ऊर्जा का उत्पादन करता है। महिलाओं को करीब 0.3 ग्राम व पुरुषों के लिए 0.35 ग्राम रोजाना जरूरत होती है। इसकी कमी से हार्ट अटैक, भू्रण का विकास नहीं होता…

Healthy Diet In Hindi: आमतौर पर भागदौड़ भरी जिंदगी में आप अपने का खानपान का खयाल नहीं रख पाते हैं। जिसका नुकसान आपकी सेहत को भुगतना पड़ता है। लेकिन आज कोरोनावायरस को रोकने के लिए दुनियाभर में लॉकडाउन किया जा चुका है। और आप भी उसका पालन करते हुए घर में रह रहे हैं, तो आप ऐसे समय का फायदा उठाकर सालों से खराब खानपान से बिगड़ रही अपनी सेहत को सुधारने का काम करें। इसके लिए आपको किसी अनोखी चीज की जरूरत नहीं है। जरूरत है, तो बस अपनी डाइट में अच्छी सेहत लिए जरूरी पांच पोषक तत्वों को शामिल करने की है। क्योंकि आप सभी जानते हैं कि शरीर को स्वस्थ रखने और बीमारियों से बचाने के लिए नियमित पोषण की आवश्यकता होती है। इसलिए पौष्टिक व संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए जिसमें विटामिन, प्रोटीन, फाइबर, आयरन, कैल्शियम जैसे सारे पौष्टिक तत्त्व मौजूद हों। इनमें हरी सब्जियां, साबुत अनाज, ताजे फल व मेवे आते हैं। स्वस्थ शरीर के लिए इन आहारों का सेवन जरूर करें। आइए जानते हैं उन सेहत के लिए जरूरी पांच पोषक तत्वों के बारे में:-

फोलिक एसिड
क्यों जरूरी : नई कोशिकाओं व लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करता है। इसकी कमी से गर्भस्थ शिशुओं में स्पाइनल कॉर्ड की दिक्कत हो सकती है।

कितनी जरूरत : प्रतिदिन अधिकतम 0.001 ग्राम फोलिक एसिड ले सकते हैं। गर्भवती महिलाएं 400 माइक्रोग्राम फोलिक एसिड ले सकती हैं।

स्रोत : ब्रीन्स, दालें, हरी पत्तेदार सब्जियां, ब्रोकली, मशरूम, राजमा, अनाज, पपीता, स्ट्रॉबेरी।

मैग्नीशियम
क्यों जरूरी : मैग्नीशियम 300 से ज्यादा बायोकैमिकल प्रतिक्रियाएं करता है। जब हम भोजन करते हैं तो यह उससे ऊर्जा का उत्पादन करता है।

कितनी जरूरत : महिलाओं को करीब 0.3 ग्राम व पुरुषों के लिए 0.35 ग्राम रोजाना जरूरत होती है। इसकी कमी से हार्ट अटैक, भू्रण का विकास नहीं होता।

स्रोत : सूखे मेवे, पत्तेदार सब्जियां, कीवी, एवोकाडो दही, ओट्स मूंगफली और सोया मिल्क में।

पोटैशियम
क्यों जरूरी : हृदय को सही तरह से कार्य करने, हड्डियों, पाचन क्रिया रखने, मांसपेशियों के संकुचन को रोकने व हड्डियों के लिए बहुत जरूरी है। हाइ बीपी को कम करता है।

कितनी जरूरत : वयस्कों के लिए करीब 4.7 ग्राम प्रतिदिन।

स्रोत: केला, एवोकाडो, मूंगफली, बादाम, मूंगफली, संतरा, गाजर, टमाटर, शकरकंद, चुकंदर, आलू, खजूर, दही, व दूध।

सेलेनियम
क्यों जरूरी : यकृत के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। यह अच्छा एंटीऑक्सिडेंट है। विभिन बीमारियों में बचाव होता है। रोग प्रतिरोधकता बढ़ाता है।

कितनी जरूरत : इसकी कमी से हृदय रोग, आर्थराइटिस, यकृत रोग, अल्जाइमर और थाइरायड की दिक्कत बढ़ती है। .055 मिग्रा प्रतिदिन लेना चाहिए।

स्रोत : अंडा, मांस, दूध, व दूध से बने पदार्थ, सन फ्लावर सीड, मशरूम, चिया सीड, ब्राउन राइस, आलसी व तिल के बीज, ब्रोकली, पत्ता गोभी, पालक, मशरूम, ओट्स , काजू आदि।

बीटा केरोटीन
क्यों जरूरी : आंखों की रोशनी, रोग प्रतिरोधकता व कोशिकाओं के विकास के लिए जरूरी है।

कितनी जरूरत : बीटा-कैरोटीन एक एंटी-ऑक्सीडेंट और इम्यून सिस्टम बूस्टर के रूप में काम करता है। इसे तीन से छह मिग्रा. रोजाना लेना चाहिए।

स्रोत : गाजर, पालक, टमाटर, सलाद पत्ता, शकरकंदी, ब्रोकली, सीताफल, खरबूजा, पपीता, आम, मटर, गोभी, लाल-पीली शिमला मिर्च आदि में।





















LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here