Extreme Weather In Iraq rare Snowfall Blankets Baghdad second Time In 100 Years – इराक में 100 साल बाद दिखा दुर्लभ नजारा, बगदाद ने ओढ़ी बर्फ की चादर

0
21


ख़बर सुनें

इराक में मौसम में अचानक हुए बदलाव ने राजधानी बगदाद समेत आसपास के इलाकों की तस्वीर बदल दी है। बगदाद में यह दुर्लभ नजारा करीब 100 साल बाद देखने को मिला है। कह सकते हैं कि जिन लोगों ने बगदाद को बर्फ की चादर में लिपटा देखा उनके लिए यह दुर्लभ है। राजधानी वासियों को मंगलवार सुबह दूर-दूर तक सफेद बर्फ से ढकी जमीन दिखाई दी। खूबसूरत नजारा देख लोगों के चेहरे खिल गए, लोग बर्फ के साथ तस्वीरें लेने लगे। बर्फ की सफेद चादर बगदाद समेत कई शहरों के अलावा शिया समुदाय के पवित्र शहर कर्बला में भी देखी जा सकती है।

बताया जा रहा है कि इससे पहले ऐसा नजारा 1914 में दिखा था। वर्ल्ड मेट्रोलोजिकल डिपार्टमेंट के मुताबिक इराक में फरवरी में बर्फ गिरना दुर्लभ है। मौसम में अचानक बदलाव यूरोप में तूफान और बर्फीली हवाओं के कारण हुआ है।

हालांकि, इससे पहले 2008 में भी बर्फबारी हुई थी, लेकिन इतनी बड़ी मात्रा में नहीं हुई थी। आमतौर पर इराक में भीषण गर्मी का प्रकोप रहता है। हाल के वर्षों में गर्मी में बगदाद का तापमान 51 डिग्री सेल्सियस तक चला गया था। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक समुद्र का तापमान कनेक्टिव सिस्टम को प्रभावित करता है। पिछले कुछ सालों में जलवायु परिवर्तन के कारण तापमान में बढ़ोतरी हुई है। इसका असर साफ दिखने लगा है।

2018 में भी इसी वजह से मौसम में असमानता आई थी और सूखा पड़ा था और अगले साल भारी बारिश और बाढ़ ने घरों और फसलों को तबाह कर दिया था। लेकिन इस साल की शुरुआत से ही मौसम ने अलग रंग दिखाने शुरू कर दिए हैं। 

खाड़ी देश में 100 साल बाद दुर्लभ नजारा

सदी में दूसरी बार यह दुर्लभ नजारा देखने को मिला है। यहां पर 48 घंटे में चार इंच से ज्यादा बर्फबारी हुई है। बर्फबारी की वजह से तापमान गिरकर पांच डिग्री पर पहुंच गया। इससे पहले इतनी ज्यादा मात्रा में बर्फबारी 1914 में हुई थी। बर्फ की सफेद चादर राजधानी समेत शिया समुदाय के पवित्र शहर कर्बला और मोसुल में भी दिखाई दी। मौसम विभाग के मुताबिक बर्फबारी उत्तरी इराक में सामान्य है, लेकिन मध्य और दक्षिणी इराक में यह दुर्लभ है। 

इराक में मौसम में अचानक हुए बदलाव ने राजधानी बगदाद समेत आसपास के इलाकों की तस्वीर बदल दी है। बगदाद में यह दुर्लभ नजारा करीब 100 साल बाद देखने को मिला है। कह सकते हैं कि जिन लोगों ने बगदाद को बर्फ की चादर में लिपटा देखा उनके लिए यह दुर्लभ है। राजधानी वासियों को मंगलवार सुबह दूर-दूर तक सफेद बर्फ से ढकी जमीन दिखाई दी। खूबसूरत नजारा देख लोगों के चेहरे खिल गए, लोग बर्फ के साथ तस्वीरें लेने लगे। बर्फ की सफेद चादर बगदाद समेत कई शहरों के अलावा शिया समुदाय के पवित्र शहर कर्बला में भी देखी जा सकती है।

बताया जा रहा है कि इससे पहले ऐसा नजारा 1914 में दिखा था। वर्ल्ड मेट्रोलोजिकल डिपार्टमेंट के मुताबिक इराक में फरवरी में बर्फ गिरना दुर्लभ है। मौसम में अचानक बदलाव यूरोप में तूफान और बर्फीली हवाओं के कारण हुआ है।

हालांकि, इससे पहले 2008 में भी बर्फबारी हुई थी, लेकिन इतनी बड़ी मात्रा में नहीं हुई थी। आमतौर पर इराक में भीषण गर्मी का प्रकोप रहता है। हाल के वर्षों में गर्मी में बगदाद का तापमान 51 डिग्री सेल्सियस तक चला गया था। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक समुद्र का तापमान कनेक्टिव सिस्टम को प्रभावित करता है। पिछले कुछ सालों में जलवायु परिवर्तन के कारण तापमान में बढ़ोतरी हुई है। इसका असर साफ दिखने लगा है।

2018 में भी इसी वजह से मौसम में असमानता आई थी और सूखा पड़ा था और अगले साल भारी बारिश और बाढ़ ने घरों और फसलों को तबाह कर दिया था। लेकिन इस साल की शुरुआत से ही मौसम ने अलग रंग दिखाने शुरू कर दिए हैं। 

खाड़ी देश में 100 साल बाद दुर्लभ नजारा

सदी में दूसरी बार यह दुर्लभ नजारा देखने को मिला है। यहां पर 48 घंटे में चार इंच से ज्यादा बर्फबारी हुई है। बर्फबारी की वजह से तापमान गिरकर पांच डिग्री पर पहुंच गया। इससे पहले इतनी ज्यादा मात्रा में बर्फबारी 1914 में हुई थी। बर्फ की सफेद चादर राजधानी समेत शिया समुदाय के पवित्र शहर कर्बला और मोसुल में भी दिखाई दी। मौसम विभाग के मुताबिक बर्फबारी उत्तरी इराक में सामान्य है, लेकिन मध्य और दक्षिणी इराक में यह दुर्लभ है। 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here