Friendly kissing poses European dilemma as Corona virus spreads

0
23


कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मामलों ने यूरोपीय नागरिकों के बीच पारंपरिक दोस्ताना अभिवादन के तरीकों को लेकर खौफ पैदा कर दिया है। हालांकि इस डर को दूर करने के प्रयास भी किए जा रहे हैं। फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने इस हफ्ते नेपल्स में फ्रांस-इटली शिखर सम्मेलन के दौरान जब प्रधानमंत्री ग्यूसेप कोंटे को इतालवी अंदाज में दोनों गालों पर एक बार नहीं, बल्कि दो मौकों पर चुंबन दिया। इस तरह पारंपरिक अभिवादन के जरिए उन्होंने लोगों को संकेत दिया कि वह चीन से फैले नए वायरस के चलते अपने पड़ोसियों से भयभीत न हों। यूरोप में वायरस से सबसे अधिक प्रभावित इटली है।

कोरोना वायरस के समय में यह दोस्ताना चुंबन कशमकश की नई वजह बन गया है खास कर अत्यधिक भावुक दक्षिणी यूरोप में। लेकिन उनसे भी अधिक संकोची उत्तरी यूरोप के लोग इस समस्या से जूझ रहे हैं कि उन्हें हाथ भी मिलाना चाहिए या नहीं। कोरोना वायरस को लेकर सरकार के विशेष आयुक्त एंजेलो बोर्रेली ने कहा है कि इतालवी लोगों की खुले दिल से सबसे मिलने-जुलने की प्रकृति वायरस के प्रसार का कारण हो सकती है। देश में अब तक 1,000 लोग संक्रमण की चपेट में आए हैं और 29 लोगों की मौत हुई। इनमें से लगभग सभी मामले देश के उत्तरी हिस्से के हैं।

कोरोना वायरस से बिगड़ी चीन की आर्थिक हालत, भारत को मिल सकता है ग्लोबल मार्केट में फायदा: एसोचैम

लेकिन चुंबन के सामाजिक दस्तूर को लेकर कोई आधिकारिक आदेश नहीं है और समाजशास्त्रियों का कहना है कि इसकी जड़ें इटली के भूमध्यसागरीय संस्कृति के साथ ही उसके मजबूत पारिवारिक एवं सामाजिक ढांचे में हैं। बोर्रेली ने संवाददाताओं से कहा, “हमारा सामाजिक जीवन सामूहिक है जो बेहद सुसज्जित, बहुत विस्तार वाला है। हम हाथ मिलाते हैं, एक-दूसरे को चूमते हैं, एक-दूसरे से गले मिलते हैं।” उन्होंने कहा, “हो सकता है कि इस समय हाथ न मिलाना और ज्यादा संपर्क न करना तथा ज्यादा दोस्ताना नहीं होना ठीक होगा जो कि मेरी स्वाभाविक प्रकृति से अलग होगा।”

वहीं दूसरी ओर, कोरोना वायरस ने ईरान को भी अपने चपेट में ले लिया है। ईरान में कोरोना वायरस से 11 और लोगों की मौत हो गई, जिससे इससे मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 54 हो गई है। बता दें कि चीन के बाद ईरान दूसरा देश है जहां पर कोरोना वायरस से इतनी ज्यादा मौते हुई हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता कियानोश जहांपोर ने रविवार (1 मार्च) को बताया कि इससे संक्रमण के 385 और नए मामले सामने आए हैं। देश में इस बीमारी से संक्रमण के मामलों की संख्या 978 पहुंच गई है।

उन्होंने बताया कि मशहाद समेत कई शहरों में नए मामलों की पुष्टि हुई है। प्रवक्ता ने अपनी दैनिक ब्रीफिंग में बताया कि पूरे ईरान में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या अब कम हो रही है। ईरान के सरकारी प्रसारक ने कहा कि उत्तरी गिलान प्रांत की राजधानी रश्त में जाने वाली सभी उड़ानों को स्थगित कर दिया गया है। इसका कोई कारण नहीं दिया गया है। 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here