Having chest pain Know what is Chest Pain Symptoms Diagnosis and Treatment

0
158


सीने में दर्द चिंता का कारण होता है। सर्दी के दिनों में यह परेशानी बढ़ जाती है। सीने या छाती में दर्द के अलग-अलग कारण हो सकते हैं और ज्यादातर मामलों में मरीज को ये कारण साफ पता नहीं होते हैं। एम्स के डॉ. केएम नाधीर के अनुसार, सीने का दर्द कई किस्म का हो सकता है। यह छाती में तेज चुभन से लेकर मंद दर्द तक हो सकता है। कभी-कभी यह दर्द गर्दन और जबड़ों तक पहुंच जाता है। यह हार्ट संबंधी किसी बीमारी का दर्द भी हो सकता है। इसलिए हल्के में नहीं लेना चाहिए।
 
इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज-
-छाती में चुभन या खिंचाव का अनुभव
-छाती में भारीपन महसूस होना
-घबराहट
-गर्मी में ठंडा पसीना या ठंड में पसीना आना
-कमजोरी महसूस होना
-चक्कर आना
-छाती से शुरू हुआ दर्द कंधे और हाथ तक फैलने लगे
-निगलने में परेशानी
-मुंह का स्वाद बिगड़ना
-बेचैनी महसूस होना
 
जानिए क्यों होता है सीने में दर्द-
सीने में दर्द के दो प्रमुख कारण हो सकते हैं। अधिकांश मामलों में गैस या एसिडिटी के कारण दर्द होता है। हार्ट की मांसपेशियों में रक्त प्रवाह बाधित होना, सीने में दर्द का प्रमुख कारण होता है। इस स्थिति को एंजाइना कहा जाता है। एंजाइना का दर्द कुछ पल के लिए होता है और अपने आप सही हो जाता है, लेकिन यदि हार्ट से जुड़ी किसी परेशानी के कारण दर्द हो रहा है तो यह गंभीर हो सकता है। यह हार्ट अटैक भी हो सकता है और तत्काल इलाज की दरकार होती है। इसके अलावा छाती की मांसपेशियों में खिंचाव और फेफड़ों से जुड़े किसी रोग के कारण यह दर्द हो सकता है।
 
छाती में दर्द के ये हैं घरेलू उपाय-
छाती में दर्द से बचने के लिए कुछ सावधानियां बताई जाती हैं। जैसे- भारी भोजन न करें। पाचन जितना आसान होगा, शरीर का हर अंग उतना हल्का रहेगा। धूम्रपान या शराब का सेवन बंद कर दें। छाती में दर्द का अहसास हो तो चहलकदमी शुरू कर दें। यदि गैस होगी तो इससे निकल जाएगी और राहत महसूस होगी। एक गिलास पानी में नींबू और काला नमक मिलाकर सेवन करना फायदेमंद होता है। ठंड के दिनों में छाती का ख्याल रखें। ऐसी चीजें न खाएं, जिनसे फेफड़ों में कफ बने। रात में छाती की गर्म सिकाई करें। नमक की पोटली बनाकर सेक करना फायदेमंद है। यदि छाती में दर्द हो रहा है कि एक गिलास पानी में एक चम्मच सिरका मिलाकर सेवन करें।
 
लहसुन का उपयोग भी बहुत आसान और फायदेमंद है। लहसुन का रस गुनगुने पानी में मिलाकर सेवन करें या भूनी हुई लसहुन की दो कलियां चबा लें। यदि अपच के कारण छाती में दर्द महसूस हो सकता है तो गर्म पानी का सेवन करें। अदरक वाली चाय या ग्रीन टी भी पी सकते हैं। ऐसी चीजों से दूर रहें, जिनके कारण शुगर, हाई ब्लड प्रेशर या कोलेस्ट्रॉल की समस्या हो सकती है। नियमित व्यायाम करें। ताजी हवा में गहरी सांस लें। हल्दी और तुलसी का नियमित सेवन छाती के दर्द से छुटकारा दिलाता है।
 
अधिक जानकारी के लिए देखें: https://www.myupchar.com/disease/chest-pain


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here