Human And Pig Gene Hybrid Skin, That Can Help Burn Survivors – Hybrid Skin: हाइब्रिड स्किन से आसान हाेगा जली त्वचा का इलाज

0
35


Hybrid Skin In Hindi: चीन में वैज्ञानिकों ने सूअरों और मनुष्यों के जीन को मिलाकर एक नई तरह की त्वचा ( Human and pig gene hybrid ) विकसित की है जिसे मनुष्यों पर लगाया जा सकता है। वैज्ञानिकों की इस खोज को जलने और एसिड हमलों के

Hybrid Skin In Hindi: चीन में वैज्ञानिकों ने सूअरों और मनुष्यों के जीन को मिलाकर एक नई तरह की त्वचा ( Human and pig gene hybrid ) विकसित की है जिसे मनुष्यों पर लगाया जा सकता है। वैज्ञानिकों की इस खोज को जलने और एसिड हमलों के पीड़ितों के इलाज के लिए पथ-प्रदर्शक माना जा रहा है। म्यूटेंट ‘स्किन’ उस दिशा में एक और कदम है, जिसमें सूअरों को उन अंगों के साथ तैयार किया जा रहा है जिन्हें इंसानों में प्रत्यारोपित किया जा सकता है।

वैज्ञानिकों ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि जानवरों के अंगों का इस्तेमाल करने से अंग दानदाताओं की कमी की समस्या को हल किया जा सकता है और इन जानवरों में मानव जीन को इंजेक्ट करने से मानव शरीर और प्रतिरक्षा प्रणाली इन अंगों को अधिक आसानी से स्वीकार कर सकती है।

कृत्रिम ‘त्वचा’ का विकास नानचंग विश्वविद्यालय से संबद्ध अस्पताल में चीन के शोधकर्ताओं की एक टीम द्वारा किया गया है, जिसका नेतृत्व लिंचिंग जो ने किया।

त्वचा का मैकाक बंदरों पर पहली बार परीक्षण किया गया था और परिणामों से पता चला कि यह 25 दिनों तक बंदर की मूल त्वचा पर स्थापित रहने में कामयाब रहा। इसमें किसी भी तरह की अतिरिक्त दवा की आवश्यकता नहीं थी क्योंकि त्वचा में सम्मलित मानव जीन ने बाहरी वस्तु को बाहर फेंकने वाली बंदरों की प्रतिरक्षा प्रणाली को रोका दिया था। शोधकर्ताओं को लगता है कि मानवों पर संकर त्वचा और भी बेहतर काम कर सकती है।

हाइब्रिड बनाने के लिए सूअरों के जीन में आठ विशिष्ट मानव जीन जोड़े गए। यह विकास उन वैज्ञानिकों की मदद कर सकता है जो अंग दान संकट को हल करने के लिए कृत्रिम अंगों को विकसित करने की कोशिश कर रहे हैं।










LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here