ICC ODI Cricket WC : On 28 April Australia Had A Title Hat-trick – ICC ODI Cricket World Cup : आज ही 28 अप्रैल को ऑस्ट्रेलियाई टीम ने लगाई थी खिताबी हैट्रिक

0
135


ICC ODI Cricket World Cup के अब तक 12 संस्करण खेले गए हैं। इन पर ऑस्ट्रेलिया का पूरी तरह दबदबा रहा है। उसने 12 में से पांच बार खिताब पर कब्जा जमाया है।

By: Mazkoor

Published: 28 Apr 2020, 12:16 PM IST

नई दिल्ली : विश्व कप इतिहास में सबसे कामयाब ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम (Australia Cricket Team) है। 1975 से शुरू हुआ आईसीसी एकदिवसीय क्रिकेट विश्व कप (ICC ODI Cricket World Cup) अब तक 12 बार खेला जा चुका है और इस 12 में से पांच बार तो सिर्फ ऑस्ट्रेलिया ने कब्जा जमाया है। वह एक खिताबी हैट्रिक भी लगा चुकी है। बता दें कि 1987 में ऑस्ट्रेलिया ने भारत में अपना पहला खिताब जीता था। यह विश्व कप का चौथा संस्करण था। इसके बाद 1999, 2003 और 2007 में खेले गए लगातार तीनों विश्व कप जीतकर ऑस्ट्रेलिया ने खिताबी हैट्रिक जमाई थी। ऑस्ट्रेलिया को 13 साल पहले आज ही के दिन यानी 28 अप्रैल 2007 को खिताबी जीत मिली थी। इस ऐतिहासिक मौके पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट समिति (ICC) ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम को बधाई दी है।

 

Ravichandran Ashwin बोले, टी-20 में गेंदबाजी को आसान समझते थे, बाहर किए गए तो लगा तमाचा

ग्रुप चरण में ही भारत और पाकिस्तान हो गए थे बाहर

2007 में विंडीज में पहली बार विश्व कप खेला गया था। कमाई और दर्शकों के लिहाज से यह विश्व कप अच्छा नहीं गया था। किसी विश्व कप मैच में पहली बार स्टेडियम खाली नजर आया था। बता दें कि इस विश्व कप में भारत और पाकिस्तान दोनों ग्रुप चरण से ही बाहर हो गई थीं। भारत को ग्रुप बी में बांग्लादेश और श्रीलंका ने हराकर बाहर कर दिया था तो वहीं पाकिस्तान को ग्रुप डी में मेजबान वेस्टइंडीज और आयरलैंड से अप्रत्याशित हार मिली थी।

फाइनल में श्रीलंका थी सामने

लगातार तीसरी बार जीतने कोशिश में लगी ऑस्ट्रेलिया की टक्कर फाइनल में श्रीलंका से हुई। मैच से पहले बारिश भी हुई थी। इस वजह से ओवरों में कटौती कर 38-38 ओवर का मैच कर दिया गया था। कंगारू कप्तान रिकी पोंटिंग ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। ऑस्ट्रेलिया के विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट और मैथ्यू हेडन ओपन करने आए। इस सलामी जोड़ी ने धुआंधार बल्लेबाजी करते हुए पहले विकेट के लिए 172 रन जोड़ दिए। गिलक्रिस्ट तूफानी बल्लेबाजी करते हुए 104 गेंद पर 13 चौके और आठ छक्के की मदद से 149 रन बनाकर आउट हुए। इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने निर्धारित 38 ओवर में 4 विकेट पर 281 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया और श्रीलंका के सामने इतने ही ओवर में जीत के लिए 282 रन का लक्ष्य रखा।

क्रिकेटर Manoj Tiwari ने तस्वीर पोस्ट कर रमजान की दी बधाई तो कुछ लोगों ने किया ट्रोल

श्रीलंका नहीं दे पाई टक्कर

जीत के लिए 282 रनों का लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंका ने जब 33 ओवर में सात विकेट पर 206 रन बनाए थे, तभी खराब रोशनी के कारण खेल रोकना पड़ा। रनरेट बेहतर होने के कारण ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी यह मानकर जश्न भी मनाने लगे कि वह जीत चुके हैं। लेकिन अंपायरों ने कहा कि अभी तीन ओवर का खेल और होगा। इसके बाद श्रीलंका के सामने 36 ओवरों में 269 रनों का संशोधित लक्ष्य रखा गया और अंधेरा होने के कारण ऑस्ट्रेलियाई को स्पिनरों से गेंदबाजी करवानी पड़ी। इसके बावजूद श्रीलंका तीन ओवरों में एक विकेट खोकर और नौ रन बना पाया। इस तरह 36 ओवर में आठ विकेट पर 215 रन बनाकर वह डकवर्थ-लुईस मेथड के आधार पर 53 रनों से हार गई। इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने अपना चौथे और लगातार तीसरे आईसीसी एकदिवसीय क्रिकेट विश्व कप खिताब पर कब्जा जमाया। गिलक्रिस्ट को मैन ऑफ द मैच और ग्लेन मैक्ग्राथ को मैन ऑफ द सीरीज का खिताब मिला।







Show More








LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here