India and ISL footballer Subhashish Bose providing meals for daily wage labourers – दिहाड़ी मजदूरों को खाना खिला रहे हैं भारतीय फुटबॉलर सुभाशीष

0
4


फुटबॉल सीके विनीत अगर केरल में कोविड-19 हेल्पलाइन में मदद कर रहे हैं तो भारतीय टीम के उनके साथी सुभाशीष बोस दक्षिण 24 परगना जिले के अपने गृहनगर सुभाषग्राम में बेघरों और बेरोजगारों को खाना खिला रहे हैं। देशभर में लाकडाउन के बीच सुभाषग्राम में हर सुबह स्थानीय रिक्शा चालकों, दिहाड़ी मजदूरों और छोटे-मोटे रेहड़ी-पटरी वालों की लंबी लाइन देखी जा सकती है, जो अपने लिए राशन लेने आते हैं। 

भारतीय टीम के सदस्य सुभाशीष बोस दूसरी तरफ इन लोगों को खाने के पैकेट बांट रहे होते हैं, जिसमें चावल, दाल, आलू, प्याज और अन्य जरूरी सामान होता है। वह इस तरह लोगों की मदद कर रहे हैं।

टोक्यो ओलंपिक स्थगित होने से हुआ करोड़ों डॉलर्स का नुकसानः थॉमस बाक

लोगों के बीच खाने का सामान बांट रहे सुभाशीष ने कहा, ”रिक्शा चलाने वाले कितनी बार मुझे स्थानीय मैचों के लिए मुफ्त में लेकर गए और वापस आए, शानदार प्रदर्शन के बाद स्थानीय दुकानदारों ने मुफ्त में मुझे खाने के पैकेट दिए… मुझे लगता है कि अब समय है कि मैं उन्हें कुछ वापस दूं।” 

एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिपः भारत की मेजबानी में नवंबर-दिसंबर में खेला जाएगा टूर्नामेंट

उन्होंने कहा, ”उस समय काफी संतोष होता है जब मैं अपने इलाके में उन जाने पहचाने चेहरों को खाने का सामान देता हूं जिनके सामने मैं बड़ा हुआ।” कोविड-19 महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए भारत में 24 मार्च ने लॉकडाउन घोषित किया गया है और इसके बाद निचले तबके के लोगों और दिहाड़ी मजदूरों को सबसे अधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। 

बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 905 नए मामले सामने आए जबकि 51 लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही सोमवार (13 अप्रैल) को संक्रमितों की कुल संख्या 9,352 तक पहुंच गई और मृतकों की संख्या 324 हो गई। 

इसके मुताबिक, 979 मरीजों को सेहत में सुधार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। हालांकि, राज्यों से प्राप्त सूचनाओं पर आधारित समाचार एजेंसी पीटीआई के आंकड़ों के मुताबिक, देशभर में संक्रमितों की संख्या 9,594 रही जबकि 335 की मौत हो चुकी है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here