Labor Day 2020: Share these best revolutionary thoughts wishes quotes Messages Facebook and WhatsApp status on May Day

0
24


Labour Day 2020 : हर साल एक मई को मजदूर दिवस या मई दिवस (International Workers’ Day) के रूप में मनाया जाता है। भारत में इस दिन कामगारों/कर्मचारियों के सम्मान में सभी राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों में सार्वजनिक अवकाश घोषित है। मई दिवस को देश में महिला व पुरुष कामगारों की मेहनत की अहमियत करके उन्हें सम्मानित भी किया जाता है। बहुआयामी देश भारत में इसे अंतरराष्ट्रीय श्रमिक दिवस के रूप में मनाया जाता है।

एक मई 1886 को अमेरिका में हजारों मजदूर एकत्र होकर 15 घंटे काम कराने के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद की थी। यह अमेरिका में औद्योगिककरण का भी दौर था जहां मजदूरों का अमीरों द्वारा बेतहाशा शोषण किया जा रहा था। एक मई की इस मजदूर क्रांति के बाद से हर साल एक मई को मजदूर दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

 

भारत में मजदूर दिवस का इतिहास-
रिपोर्ट्स के अनुसार भारत में पहली बार 1 मई 1923 को लेबर किसान पार्टी ऑफ हिन्दुस्तान की ओर से मद्रास (चेन्नई) में मनाया गया था। यही वह मौका था जब पहली बार लाल रंग झंडा मजदूर दिवस के प्रतीक के तौर पर इस्तेमाल किया गया था। हिन्दी में इसे कामगार दिवस के रूप में भी जानते हैं। यह भारत में मजदूर आंदोलन की एक शुरुआत थी जिसका नेतृत्व वामपंथी व सोशलिस्ट पार्टियां कर रही थीं। दुनियाभर में मजदूर संगठित होकर अपने साथ हो रहे अत्याचारों व शोषण के खिलाफ आवाज उठा रहे थे।

 

भारत समेत दुनिया में मजदूरों व कर्मचारियों की हालत और कार्यस्थल को उनके अनुकूल बनाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इसके बावजूद अभी काफी कुछ करना बाकी है। मजदूरों को कई महान विचारकों ने अपने विचार भी व्यक्त किए हैं। आज मई दिवस के मौके पर हम यहां कुछ चुनिंदा विचार साझा कर रहे हैं जिन्हें आप शेयर कर मजदूर दिवस की बधाई दे सकते हैं-

 

1st May, Labour Day Quotes:

1- कार्य का आनंद लेने वाले ही उसे सही तरीके से कर सकते हैं – अरस्तू

 

 

2- कभी किसी को कुछ नहीं मिलता, जब तक कि वह उसकी कीमत के हिसाब से कठिन परिश्रम नहीं करता – बूकर टी वॉशिंगटन

3- किसी काम को करना बड़ी बात नहीं है, लेकिन जिस काम से हमें खुशी मिलती है वह चमत्कार से कम नहीं है – मदर टेरेसा

 

4- अपने आपको उन लोगों के बीच रखो जिनसे आपको खुशी मिलती है – कार्ल मार्क्स

5- समाज में गरीबों के सहयोग के बिना अमीर कभी भी धन संचय नहीं कर सकते – महात्मा गांधी

6- शिक्षा जैसी कोई मजदूरी नहीं, यह अपने आपको एक इनाम देना है – महात्मा गांधी


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here