May 1 Maharashtra Day Stock Market, BSE, NSE, Sensex, Nifty – Share Market आज बंद, Investors को चार दिनों 7.68 लाख करोड़ का फायदा

0
25


  • सोमवार से शुक्रवार तक Sensex 33887.25 अंकों तक उछला
  • Nifty 50 में चार दिनों में देखने को मिली करीब 700 अंक की तेजी
  • गुरुवार को सेंसेक्स में देखने को मिली थी 997.46 अंकों की बढ़त
  • आखिरी कारोबारी दिन निफ्टी 306.55 अंकों की तेजी के साथ बंद

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस ( International Labour Day ) एवं महाराष्ट्र दिवस ( Maharashtra Day Stock Market ) के मौके पर अवकाश होने के कारण शुक्रवार को देश के शेयर बाजार ( Share Market ) , मुद्रा बाजार और कमोडिटी वायदा बाजार में कारोबार बंद हैं। आगे शनिवार और रविवार होने के कारण बाजार बंद रहेगा और नियमित कारोबार के लिए अब सोमवार को ही शेयर बाजार खुलेगा। बीते सत्र में गुरुवार को दलाल स्ट्रीट जोरदार लिवाली के कारण गुलजार रहा। इस दौरान निवेशकों को 7.68 लाख करोड़ रुपए का फायदा हुआ। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर बीते चार दिनों शेयर बाजार में किस तरह की तेजी देखने को मिली है।

सेंसेक्स और निफ्टी में जबरदस्त तेजी
बीते चार कारोबारी सत्रों में बांगे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स में 2,390 अंकों की बढ़ोतरी देखने को मिली। जबकि गुरुवार को सेंसेक्स 997.46 अंकों यानी 3.05 फीसदी की तेजी के साथ 33,717.62 पर बंद हुआ था। वहीं बात नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख सूचकांक निफ्टी की बात करें तो बीते चार दिनों में तकरीबन 700 अंकों की तेजी देखने को मिली। जबकि गुरुवार को 306.55 अंकों यानी 3.21 फीसदी की तेजी के साथ 9859.90 पर बंद हुआ था।

चार दिनों में निवेशकों को 7.68 लाख करोड़ का हुआ लाभ
इसी तेजी की वजह से शेयर बाजार के निवेशकों को भी काफी लाभ हुआ। पिछले चार दिनों से निवेशकों को 7.68 लाख करोड़ रुपए का लाभ हुआ है। निवेशकों का लाभ बीएसई का मार्केट कैप से जुड़ा होता है। बीते एक सप्ताह में बीएसई के मार्केट कैप में 7,68,168.35 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है। इस गुरुवार को मार्केट बंद होने के समय में बीएसई का मार्केट 1,29,41,620.82 करोड़ रुपए हो गया था।

क्या कहते हैं जानकार
जानकारों की मानें तो मार्च 2020 में कोरोना वायरस की वजह से काफी गिरावट देखने को मिली थी। लेकिन अप्रैल के महीने में बाजार में काफी सुधार देखने को मिला है। ऐसा इसलिए देखने को मिला क्यों कि दुनिया भर के देशों में करीब एक महीने के लॉकडाउन में कुछ राहतें दी गई हैं। वहीं राहत पैकेज के ऐलान भी हुए हैं। जिसकी वजह देश के कारोबार के पटरी पर लौटने की आस भी जगी है। वहीं कोरोना वायरस के मामलों में भी हल्ही ही सही लेकिन गिरावट देखने को मिली है। वहीं भारत समेत दुनियाभर के देशों में कोरोना दवा बनाने में भी तेजी दिखाई जा रही है।







Show More















LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here