Medication Found To Treat Coronavirus! Thailand Government Claims – Coronavirus के इलाज के लिए मिल गई दवा! थाइलैंड सरकार ने किया दावा

0
85


बैंकॉक। रहस्यमय कोरोना वायरस ( Coronavirus ) के कारण चीन ( China ) में हाहाकार मचा हुआ है और अब तक इस वायरस की चपेट में आने से अकेले चीन में 360 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 17 हजार से अधिक लोग संक्रमित हैं।

इस वायरस ने दुनिया के 18 देशों को अपनी चपेट में ले चुका है। यही कारण है कि पूरी दुनिया में इसको लेकर लोगों में एक भय का माहौल बन गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO ) ने वायरस के फैलते प्रभाव को देखते हुए इसे वैश्विक महामारी घोषित किया है और अतंरर्राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की है।

Coronavirus: चीन में जानलेवा वायरस से अब तक 304 की मौत, 14000 संक्रमित

इधर इन सबके बीच एक बड़ी खबर सामने आई है। इस वायरस से निजात पाने के लिए दवा मिल गई है। थाइलैंड ( Thailand ) के डॉक्टरों ने कुछ दवाओं को मिलाकर एक नई दवा बनाई है और दावा किया जा रहा है कि इससे कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति का इलाज संभव है।

थाइलैंड की सरकार ने किया दावा

थाइलैंड की सरकार ने भी दावा किया है कि यह दवा कारगर है। इस दवा को देने के बाद मरीज 48 घंटे में ठीक हो गया।थाईलैंड के डॉक्टर क्रिएनसाक अतिपॉर्नवानिच ने बताया कि हमने 71 वर्षीय महिला मरीज को अपनी नई दवाई देकर 48 घंटे में ठीक कर दिया।

उन्होंने दावा किया कि दवा देने के 12 घंटे बाद ही मरीज बिस्तर पर उठकर बैठ गई, जबकि उससे पहले वह हिल भी नहीं पा रही थी। इसके बाद 48 घंटे में वह 90 फीसदी तक सेहतमंद हो गईं। अब उन्हें कुछ दिन और रखेंगे और पूरी तरह से इलाज के बाद वापस घर भेज देंगे।

डॉक्टर क्रिएनसाक अतिपॉर्नवानिच ने बताया कि जब इस दवा को लैब में परीक्षण किया गया तो इसके सकारात्मक परिणाम मिले। 12 घंटे के अंदर ही इसने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया और मरीज को राहत पहुंचा दी।

सरकार ने परीक्षण के लिए लैब में भेजा

डॉक्टर क्रिएनसाक ने जानकारी साझा करते हुए बताया है कि कोरोना वायरस ( coronavirus s ) के इलाज के लिए एंटी-फ्लू ड्रग ओसेल्टामिविर को लोपिनाविर और रिटोनाविर से मिलाकर एक नई दवा बनाई है। यह बहुत ही कारगर है। फिलहाल इसे लैब में परीक्षण किया जा रहा है और इसे अधिक कारगर बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं।

दुनिया के 18 देशों में फैला Coronavirus, WHO घोषित कर सकता है ‘वैश्विक महामारी’

थाईलैंड की सरकार ने इस दवा को अपने केंद्रीय प्रयोगशाला में भेजा है ताकि इसकी प्रमाणिकता को सटिकता व मजबूती के साथ परखा जा सके। यदि यह परीक्षण में सफल होती है तो यह मान लिया जाएगा कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पहली दवा मिल गई है।

आपको बता दें कि दुनिया के 18 देशों में कोरोना वायरस फैल चुका है इसमें थाइलैंड भी शामिल है। थाइलैंड में 19 कन्फर्म्ड मामले सामने आए थे, जिनमें से 8 को 14 दिन की इलाज के बाद वापस घर भेज दिया गया, जबकि अभी भी 11 का इलाज चल रहा है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here