Napping On Right Time Have Lots Of Health Benefits – Nap: इस समय पर न लें झपकी, हाेता है उल्टा असर

0
26


Nap: एक छोटी सी झपकी आपकी ऊर्जा को बढ़ावा देने और आपके मस्तिष्क की शक्ति में सुधार करने में मदद कर सकती है। लेकिन गलत समय पर झपकी लेने से उल्टा असर हो सकता है

Nap In Hindi: एक छोटी सी झपकी आपकी ऊर्जा को बढ़ावा देने और आपके मस्तिष्क की शक्ति में सुधार करने में मदद कर सकती है। लेकिन गलत समय पर झपकी लेने से उल्टा असर हो सकता है। यह आपको बुरा महसूस करवा सकती है, आपकी नींद के नियम को बिगाड़ सकती है। और आपकी कार्यक्षमता को खराब कर सकती है। तो, झपकी लेने का सही समय कब है? आपको कब झपकी नहीं लेनी चाहिए?, तो आज हम आपको बताएंगे की कब छपकी लेना अच्छा है और कब नहीं। आइए जानते हैं छपकी से जुड़ी कुछ खास बातें :-

कब लेनी चाहिए झपकी
अपने शरीर के प्राकृतिक नींद चक्र को बनाए रखने के लिए हर दिन एक ही समय पर सोना और जागना महत्वपूर्ण है। अगर आप को रात को सोने में देर होती है तब भी आपको सुबह सही समय पर उठना चाहिए। ऐसा न करने से आपकी सामान्य नींद का कार्यक्रम बाधित हो सकता है। हर सुबह एक ही समय पर जागने की कोशिश करें। और रात में पर्याप्त नींद लेने की कोशिश करें ताकि आपको दिन में झपकी न लेनी पड़े।

हालांकि, ज्यादातर लोगों को दोपहर के बीच में थोड़ा थका हुआ महसूस करते हैं, जिसके कारण उन्हें झपकी लेने का मन करता है। और दोपहर की ये झपकी लोगों को कई तरह से फायदा पहुंचाती है। जिसमें कम थकान, सतर्कता में वृद्धि, मनोदशा में सुधार, बेहतर प्रदर्शन, तेज प्रतिक्रिया और बेहतर स्मृति शामिल हैं।

विशेषज्ञों के अनुसार, झपकी लेने का सबसे अच्छा समय दोपहर के भोजन के बाद 2 पी.एम. और 3 पी.एम. का है। यह वह समय है जब शरीर की ऊर्जा स्वाभाविक रूप से बढ़ने लगती है।

अगर आपको रात को सोने में परेशानी होती है, तो माइंडफुलनेस तकनीक आजमाएं। अध्ययन बताते हैं कि माइंडफुलनेस तकनीकों का अभ्यास अनिद्रा से लड़ सकता है और नींद की गुणवत्ता में सुधार कर सकता है।

कब ना लें झपकी
स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, दोपहर में 12:00 से 3:00 के अलावा दिन के किसी भी समय पर झपकी लेना आपको रात के समय सोने में परेशानी महसूस करा सकती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि किसी अन्य समय झपकी लेने से आपकी सामान्य सर्कैडियन लय बाधित हो सकती है।

आपको लम्बे समय तक झपकी नहीं लेनी चाहिए, क्यों कि लम्बी छपकी से आलस बढ़ता है। 10 से 20 मिनट की छपकी सेहत के लिए अच्छी मानी जाती है।

अगर आपको रात को सोते समय या सुबह जल्दी जागने में कठिनाई होती है, तो आपको दिन या शाम के दौरान कभी भी झपकी नहीं लेनी चाहिए। क्योंकि दिन की छपकी रात को सोने में समस्या पैदा कर सकती है।

हालांकि दिन में सही समय पर ली गई 10 से 20 मिनट की झपकी रात की नींद की गुणवत्ता को प्रभावित नहीं करती है। लेकिन अगर आप अनिद्रा या खराब नींद की पेरशानी से ग्रस्त हैं तो किसी भी समय छपकी लेना आपके लिए नुकसानदायक हो सकती है। यह रात के समय आपकी नींद को और खराब कर देगी।










LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here