New research poor diet causes damage to fathers sperm children become obese

0
13


पौष्टिक आहार स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है, लेकिन अब एक नए शोध से पता चलता है कि विशेष रूप से पुरुषों के लिए अच्छा खाना कितना जरूरी है। वैज्ञानिकों ने खुलासा किया है कि भविष्य में पिता बनने वाले पुरुष जो खराब आहार लेते हैं, उनके स्पर्म यानी शुक्राणु को नुकसान पहुंचता है। इसका मतलब यह है कि जब वे पिता बनेंगे तो उनके बच्चों के मोटे होने और मधुमेह होने की अधिक आशंका होगी। कम गुणवत्ता वाला भोजन जिसमें जरूरी विटामिन और मिनरल्स की कमी हो, आरएनए अणुओं को नुकसान पहुंचा सकता है। यह बात अमेरिकन एसोसिएशन में विज्ञान की उन्नति के लिए प्रस्तुत किए गए निष्कर्षों से साबित हुई।

यह फर्टिलाइज्ड होने और एक स्वस्थ भ्रूण बनने के लिए शुक्राणु को अंडे की ओर तैरने में मदद करने के लिए महत्वपूर्ण है। यह सोचा गया था कि ये अणु कोशिकाओं को निर्देश देने के लिए ही काम करते हैं।

अब शोधकर्ताओं का मानना है कि वे भ्रूण के स्वास्थ्य में एक भूमिका निभाते हैं और यह परिभाषित कर सकते हैं कि क्या नवजात शिशु मेटाबॉलिक बीमारी से पीड़ित होगा।

पहले, यह सोचा गया था कि डीएनए केवल पुरुषों और महिलाओं द्वारा अपने बच्चों में पास किए गए विशेषताओं के लिए जिम्मेदार था। चूंकि यह एक खुद मरम्मत करने वाला अणु है, इसलिए यह सुझाव दिया गया था कि लोगों की जीवन शैली का उनकी संतानों पर सीमित प्रभाव पड़ेगा।

वैज्ञानिकों ने इसके विपरीत सबूत खोजे हैं और धूम्रपान, खराब डाइट और शराब से होने वाला नुकसान विरासत में मिला है।  www.myupchar.com से जुड़ी एम्स की डॉ. वीके राजलक्ष्मी का कहना है कि शराब का सेवन करने से टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम हो सकता है और शुक्राणु उत्पादन में कमी आ सकती है। वहीं धूम्रपान करने वाले पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या कम हो सकती है। शुक्राणु की कमी का मुख्य लक्षण यह है कि वह व्यक्ति बच्चे पैदा करने में असमर्थ होता है। कुछ मामलों में हार्मोन में वंशानुगत असंतुलन, बढ़ी हुई नसें और ऐसी स्थितियां, जिससे शुक्राणुओं के रास्ते में बाधा आती है।

www.myupchar.com से जुड़ीं डॉ. मेधावी अग्रवाल का कहना है कि वीर्य में शुक्राणुओं की कमी या कमजोर शुक्राणु होने पर प्रजनन शक्ति कमजोर हो जाती है। शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए कई तरह के आहार लेने चाहिए। इसमें अनार, अखरोट, लहसुन, ब्रोकली, अंडा, पालक, केला, जिंक युक्त आहार, अच्छा वसा युक्त आहार शामिल है। यही नहीं एंटीऑक्सिडेंट फूड भी खाना चाहिए। एंटीऑक्सीडेंट एक तरह का अणु है जो मुक्त कणों को निष्क्रिय करने और बाहर निकालने में मदद करता है। मुक्त कण शुक्राणुओं के कोशिकाओं को नष्ट करते हैं। बहुत सारे विटामिन और मिनरल्स एंटीऑक्सीडेंट की तरह प्रतिक्रिया करते हैं। ऐसे कई शोध किए गए हैं, जो इस बात की पुष्टि करते हैं कि एंटीऑक्सिडेंट युक्त खाद्य पदार्थ शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने में मदद करते हैं।

अधिक जानकारी के लिए देखें : https://www.myupchar.com/disease/low-sperm-count/home-remedies

myUpchar.com द्वारा लिखे गए हैं, जो सेहत संबंधी भरोसेमंद जानकारी प्रदान करने वाला देश का सबसे बड़ा स्रोत है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here