Nirbhaya Convicts can be hanged separately

0
14


नई दिल्ली। निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस के चारों दोषियों को अलग-अलग फांसी दी जा सकती है। तिहाड़ जेल प्रशासन ने शुक्रवार को दिल्ली की अदालत में यह जानकारी दी। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धर्मेंद्र राणा शुक्रवार को 1 फरवरी को फांसी पर रोक लगाने की दोषियों की याचिका पर सुनवाई कर रहे थे।

इस दौरान तिहाड़ जेल प्रशासन की ओर से वकील इरफान अहमद ने इस मामले से जुड़ी स्टेटस रिपोर्ट दाखिल की और कहा कि इस मामले के दोषियों को अलग-अलग फांसी भी दी जा सकती है और इसमें कोई भी गैरकानूनी बात नहीं है।

बड़ी खबरः निर्भया केस में दोषियों के वकील बोले- भगवान नहीं हैं राष्ट्रपति या सुप्रीम कोर्ट के जज, कर सकते हैं गलती

अहमद ने कहा कि विनय शर्मा की दया याचिका विचाराधीन है और बाकी तीन दोषियों की कोई भी याचिका किसी भी कानूनी मंच पर विचाराधीन नहीं है, जिसके चलते इन तीनों को निर्धारित तारीख पर फांसी दी जा सकती है।

तिहाड़ जेल प्रशासन ने अदालत को बताया कि इस मामले में दोषी मुकेश सिंह अपने लिए उपलब्ध सभी कानूनी विकल्पों का इस्तेमाल कर चुका है।

वहीं, दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा कि इस मामले को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया जाए क्योंकि दोषियों के पास अभी भी कई कानूनी विकल्प मौजूद हैं।

निर्भया की वकील सीमा कुशवाहा ने बताए फांसी से पहले दोषियों के पास मौजूद अब विकल्प, कहा-नहीं मिलेगी राहत

जबकि दोषी मुकेश के लिए ‘एमिकस क्यूरिए’ के रूप में मौजूद वकील वृंदा ग्रोवर ने फांसी पर स्टे देने पर जोर डालते हुए कहा, “फांसी देने के आदेश का विभाजन नहीं किया जा सकता। मृत्युदंड वापस ना ली जा सकने वाली प्रक्रिया है। अगर एक ही दोष के लिए दोषियों को सजा देने में अलग किया जाता है तो यह न्याय का मजाक उड़ाना होगा।”

बता दें कि ‘एमिकस क्यूरिए’ वह व्यक्ति होता है जो किसी मामले की ओर से पक्ष नहीं होता है लेकिन संबंधित केस से जुड़े मुद्दों पर अदालत को जानकारी, विशेषज्ञता और बारीकी से रूबरू कराता है।

BIG NEWS: तिहाड़ जेल के फांसीघर पहुंचे पवन जल्लाद, आज ‘चारों पुतलों’ को फांसी के फंदे पर लटकाया जाएगा

गौरतलब है कि इस मामले में अब दोषियों के पास बहुत कम विकल्प बचे हैं। दोषी विनय की दया याचिका राष्ट्रपति के पास पड़ी है। जबकि तिहाड़ जेल में शनिवार को होने वाली फांसी देने के लिए पवन जल्लाद भी पहुंच चुके हैं।






























LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here