Pakistan Hospital Declined To Treat A Possible Coronavirus Infected Patient – पाक के सिंध में मिला कोरोना का संदिग्ध मरीज, अस्पताल ने इलाज से किया इनकार

0
38


ख़बर सुनें

कोरोनावायरस की वजह से चीन से वापसी करने के इच्छुक लोगों को वहीं रहने की सलाह देने पर जगहंसाई का पात्र बने पाकिस्तान का एक और अमानवीय चेहरा सामने आया है। सिंध सूबे में कोरोनावायरस के एक संदिग्ध मरीज के सामने आने के बाद वहां के अस्पताल ने उसका इलाज करने से ही इनकार कर दिया। पाकिस्तानी चिकित्सकों ने चीन से लौटे इंजीनियरिंग के इस बीमार छात्र में वायरस के लक्षण पाने के बाद उसे बाकी लोगों से अलग कर दिया है। 

वुहान में पेट्रोलियम इंजीनियरिंग कर रहा शाहजेब अली रहूजा शनिवार को अपने मुल्क पहुंचा था। उसके भाई इरशाद के मुताबिक, चीन के एयरपोर्ट पर शाहजेब की स्क्रीनिंग के बाद कराची हवाई अड्डे पर उसकी जांच की गई थी, लेकिन उसमें कोई लक्षण नहीं मिला था। घर लौटने के बाद उसे बुखार और खांसी होने लगी। इसके बाद उसे दवाएं दी गईं। नाक से खून बहने के बाद उसे अस्पताल लाया गया था।

मरीज को कमरे में बंद कर छोड़ दिया अपने हाल पर

इरशाद ने इस मामले का एक वीडियो पोस्ट किया है। वीडियो में इरशाद ने दावा किया है कि शाहजेब की हालत देख डॉक्टरों ने उसे एक कमरे में बंद करके उसे अपने हाल पर छोड़ दिया। वायरल वीडियो में कहा गया है कि स्वास्थ्य अधिकारियों ने शाहजेब को जांच और इलाज के लिए कराची भेजने का आश्वासन किया है, क्योंकि यहां के सरकारी अस्पताल में बीमारी के इलाज के इंतजाम नहीं हैं।

मंत्री ने जल्दबाजी नहीं कहकर पल्ला झाड़ा 

सिंध प्रांत की स्वास्थ्य मंत्री अजरा फजल पेचूहो ने मामले से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि शाहजेब के लिए अभी कोई जल्दबाजी नहीं है। उसमें कोरोनावायरस के लक्षण नहीं हैं।

कोरोनावायरस की वजह से चीन से वापसी करने के इच्छुक लोगों को वहीं रहने की सलाह देने पर जगहंसाई का पात्र बने पाकिस्तान का एक और अमानवीय चेहरा सामने आया है। सिंध सूबे में कोरोनावायरस के एक संदिग्ध मरीज के सामने आने के बाद वहां के अस्पताल ने उसका इलाज करने से ही इनकार कर दिया। पाकिस्तानी चिकित्सकों ने चीन से लौटे इंजीनियरिंग के इस बीमार छात्र में वायरस के लक्षण पाने के बाद उसे बाकी लोगों से अलग कर दिया है। 

वुहान में पेट्रोलियम इंजीनियरिंग कर रहा शाहजेब अली रहूजा शनिवार को अपने मुल्क पहुंचा था। उसके भाई इरशाद के मुताबिक, चीन के एयरपोर्ट पर शाहजेब की स्क्रीनिंग के बाद कराची हवाई अड्डे पर उसकी जांच की गई थी, लेकिन उसमें कोई लक्षण नहीं मिला था। घर लौटने के बाद उसे बुखार और खांसी होने लगी। इसके बाद उसे दवाएं दी गईं। नाक से खून बहने के बाद उसे अस्पताल लाया गया था।

मरीज को कमरे में बंद कर छोड़ दिया अपने हाल पर


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here