Pakistani Equestrian Horse Name Is Kashmir Qualify For Tokyo Olympic – पाकिस्तानी घुड़सवार ने घोड़े का नाम रखा है कश्मीर, ओलंपिक के लिए किया क्वालिफाई

0
26


– इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन ( Indian olympic Assosiation ) ने उस्मान खान ( Usman Khan ) के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है

टोक्यो। जापान की राजधानी टोक्यो में होने वाले ओलंपिक ( Tokyo Olympic ) गेम्स के लिए उस्मान खान ( Usman Khan ) नाम के एक घुड़सवार ने क्वालिफाई किया है। ये घुड़सवार पाकिस्तान का है, जो 24 जुलाई से शुरू होने वाले ओलंपिक गेम्स में पाकिस्तान का नेतृत्व करेगा। 38 साल के उस्मान खान इन दिनों विवादों में आ गए हैं। दरअसल, उन्होंने अपने घोड़े का नाम कश्मीर रखा है। ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाले वो पहले एथलीट हैं।

U19 WC Final: मर्यादा भूले बांग्लादेशी खिलाड़ी, जीत के बाद भारतीय टीम के साथ की बदसलूकी

घोड़े का नाम कश्मीर रखने की वजह?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इंडियन ओलिंपिक एसोसिएशन (आईओए) ने उस्मान के घोड़े के नाम कश्मीर होने पर आपत्ति दर्ज की है। आईओए ने इसे राजनीतिक मुद्दे से प्रेरित माना है और शिकायत दर्ज कराई है। हालांकि उस्मान खान का कहना है कि वो अपने घोड़े का नाम नहीं बदलना चाहेंगे, क्योंकि इस नाम की वजह से उन्हें ओलिंपिक में जाने के लिए स्पॉन्सर ढूंढने में काफी मदद मिलेगी।

वर्ल्ड कप के लिए बिना सरकार की अनुमति के पाकिस्तान पहुंची भारतीय कबड्डी टीम

विवाद पर उस्मान की सफाई

– जानकारी के मुताबिक, उस्मान अभी ऑस्ट्रेलिया में हैं और इस पूरे विवाद पर उनका कहना है कि ये वाकई हैरान करने वाली बात है कि मेरे घोड़े के नाम पर विवाद हो रहा है। उन्होंने कहा है कि घोड़े का नाम भारत के जम्मू-कश्मीर के हालात को देखते हुए नहीं रखा गया है। इस नाम को जम्मू-कश्मीर के मुद्दे (अनुच्छेद 370 हटाने) से पहले ही अप्रैल 2019 में रजिस्टर करा लिया गया था।

– उस्मान ने आगे कहा है, ‘‘मैं अभी कोई स्पॉन्सर ढूंढ रहा हूं, जो मुझे और मेरे घोड़े आजाद कश्मीर का खर्च उठा सके और हमें टोक्यो ओलिंपिक तक जाने में मदद कर सके।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ऑस्ट्रेलिया से खरीदे इस घोड़े का नाम पहले ‘हेयर-टू-स्टे’ था। मैंने इसे खरीदने के बाद 72 हजार रुपए में नाम बदलने की प्रक्रिया पूरी की। यह सब संबंधित अंतरराष्ट्रीय और स्थानीय संस्थाओं के नियम के अनुसार ही किया गया। आजाद कश्मीर नाम मुझे मेरी मातृभूमि की याद दिलाता है।’’

आईओएफ ने की है शिकायत

इंडियन ओलंपिक फेडरेशन के मुताबिक, ओलिंपिक के हर इवेंट या जगह से राजनीतिक मुद्दों को दूर रखा जाता है। इसलिए यह यह ओलिंपिक चार्टर रूल 50 के खिलाफ है। इसके अनुसार किसी भी इशारे या वस्तु से किसी देश की राजनीतिक या धार्मिक भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाई जा सकती है। यदि शिकायत होती है तो आरोपी देश का ओलिंपिक कोटा रद्द किया जा सकता है।










LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here