Pakistani Parents Want Children Back From Wuhan Within 3 Days. – कोरोना वायरस : चीन से पाक छात्रों को न लाने पर नाराज अभिभावकों ने मंत्रियों पर निकाला गुस्सा

0
6


अभिभावकों ने चेतावनी दी कि तीन दिन में उनके बच्चों को बाहर नहीं निकालते तो वे पूरे देश में प्रदर्शन करेंगे।

इस्लामाबाद। चीन में कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण कई पाकिस्तानी हुबेई प्रांत में फंसे हुए हैं। पाकिस्तानी छात्रों के अभिभावकों ने इमरान सरकार को चेतावनी दी है कि अगर वे तीन दिन में उनके बच्चों को बाहर नहीं निकालते तो वे पूरे देश में प्रदर्शन करेंगे। दरअसल, केंद्रीय मंत्री हाईकोर्ट के आदेश पर अभिभावकों को हालात की जानकारी दे रहे थे। इसी दौरान अभिभावक इतने नाराज हो गए कि वे मंत्रियों पर हमला करने वाले थे। सुरक्षाकर्मियों ने किसी तरह मंत्रियों की जान बचाई।

कोरोना वायरस के सही आंकड़ों को छिपा रहा चीन, अपमान के डर से गिनती का तरीका बदला

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बुधवार को इस्लामाबाद में हुई ब्रीफिंग में सभागार में पूरी तरह अफरा-तफरी का माहौल था। हालात ऐसे हो गए कि पुलिसकर्मियों को प्रधानमंत्री के दोनों सलाहकारों को नाराज अभिभावकों के हमले से बचाना पड़ा। बाद में नाराज अभिभावकों ने मरगल्ला रोड पर यातायात जाम कर दिया।

इस दौरान एक अभिभावक ने पीएम के विशेष सलाहकारों जफर मिर्जा और सैयद जुल्फिकार अब्बास बुखारी से आक्रामक रूप में कहा कि आप हमारी हालत नहीं समझ सकते क्योंकि यह हमारे बच्चों से जुड़ा मसला है,आपके नहीं। एक अन्य अभिभावक ने कहा कि वह पहले ही बता देते हैं कि आज से दो महीने बाद आप इसी सभागार में हमारे बच्चों की शहादत पर हमें मुआवजे के चेक देने के लिए समारोह आयोजित करेंगे।

गौरतलब है कि इमरान सरकार ने चीन से दोस्ती दिखाते हुए अपने नागरिकों को हुबेई से नहीं निकालने का फैसला किया है। इसकी उनके देश में काफी किरकिरी हो रही है। चीन में फंसे पाकिस्तानी स्टूडेंट्स का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है जो अपनी सरकार को कोस रहे हैं और भारत की तारीफ कर रहे हैं। वहीं,सरकारी बयान में कहा गया कि पीएम इमरान खान ने गुरुवार को चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से फोन पर बात की थी। उन्होंने यही बात दोहराई थी कि पाकिस्तान की सरकार कोरोना वायरस को समाप्त करने के चीन के प्रयासों में उसके साथ डटकर खड़ी है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here