Pcb Chief Jagmohan Dalmiya Save Shoaib Akhtar’s Career – पूर्व पीसीबी चीफ का खुलासा, जगमोहन डालमिया न होते तो खत्म हो जाता शोएब अख्तर का करियर

0
41


Shoaib Akhtar के गेंदबाजी एक्शन से आईसीसी संतुष्ट नहीं था, तब जगमोहन डालमिया पाकिस्तान क्रिकेट बार्ड की मदद करने आगे आए थे।

लाहौर : पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के पूर्व अध्यक्ष रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल तौकीर जिया ने एक बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि आईसीसी अध्यक्ष रहे दिवंगत जगमोहन डालमिया की वजह से पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का करियर बचा था। उन्होंने बताया कि अगर जगमोहन डालमिया पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के समर्थन में नहीं खड़े होते तो शोएब अख्तर का करियर 2000-01 में ही खत्म हो जाता। बता दें कि शोएब अख्तर को दुनिया का सबसे तेज गेंदबाज माना जाता है। उन्होंने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत 1997 में विंडीज के खिलाफ पाकिस्तान के रावलपिंडी से की थी।

आफरीदी ने बड़े ब्रांड्स से की मार्मिक अपील, राशन दे दो फ्री में करूंगा विज्ञापन

1999 में अख्तर पर लगा था संदिग्ध एक्शन का आरोप

शोएब अख्तर पर 1999 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने पीसीबी को बताया कि उनके तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का गेंदबाजी एक्शन संदिग्ध है और उसकी जांच की जा रही है। उस वक्त आईसीसी के अध्यक्ष जगमोहन डालमिया थे। बता दें कि डालमिया 1997 से 2000 तक आईसीसी के अध्यक्ष रहे थे। तौकिर जिया 1999 से 2003 तक पीसीबी के अध्यक्ष थे। उन्होंने बताया कि जगमोहन, जो आईसीसी में एक प्रभावी आवाज रखते थे। उन्होंने हमें शोएब अख्तर के बॉलिंग एक्शन वाले मामले में काफी सहयोग दिया। उस वक्त आईसीसी के सदस्य इस बात पर अड़े हुए थे कि शोएब अख्तर का एक्शन गलत है, लेकिन डालमिया अपनी बात पर अडिग रहे।

Coronavirus : एक अरब 40 करोड़ लोगों का है यह विश्व कप, इसे जीतने के लिए आदेशों का पालन करना होगा

डालमिया के स्टैंड की वजह से आईसीसी को झुकना पड़ा

पूर्व पीसीबी चीफ तौकिर जिया ने कहा कि अगर जगमोहन डालमिया नहीं होते तो यह बहुत मुश्किल होता। जिया ने कहा कि शोएब अख्तर के मुद्दे पर डालमिया और उन्होंने मिलकर जो स्टैंड लिया, उसके कारण ही आईसीसी को आखिरकार यह मानना पड़ा था कि शोएब अख्तर के दाएं हाथ में जन्म से स्वास्थ्य समस्या है। इसके बाद आईसीसी ने अख्तर को खेलने की इजाजत दी।












LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here