Petrol Diesel Expected To Rise, Brent Crude Oil Price Increased – पेट्रोल और डीजल में महंगाई की संभावना, 10 दिन में 11 फीसदी बढ़ा ब्रेंट क्रूड ऑयल

0
21


नई दिल्ली। आने वाले दिनों में पेट्रोल और डीजल के दाम में एक बार फिर से महंगाई देखने को मिल सकती है। इसका कारण है देश में आने वाले कच्चे तेल के दाम एक फिर से 60 डॉलर के आसपास पहुंच गए हैं। वैसे पेट्रोल और डीजल के दाम में इजाफे के संकेत दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजों के आने के बाद से मिलने शुरू हो गए थे। इस दौरान पेट्रोल के दाम में औसतन 2 पैसे प्रति लीटर की कटौती देखने को मिली। वहीं डीजल के दाम में 4 पैसे प्रति लीटर की औसतन कटौती देखने को मिली है। दूसरी ओर भारत में आने वाला ब्रेंट क्रूड ऑयल समान अवधि में 11 फीसदी तक बढ़ गया है। क्रूड ऑयल के दाम बढऩे से स्थानीय स्तर पर पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी होगी। डीजल के दाम में बढ़ेंगे तो देश में महंगाई बढ़ेगी।

पेट्रोल सिर्फ 21 पैसे प्रति लीटर सस्ता
10 फरवरी के बाद से अभी तक पेट्रोल के दाम में मात्र 21 पैसे प्रति लीटर की कटौती देखने को मिली है। 10 फरवरी के बाद इस दौरान हफ्ते से ज्यादा दिनों में पेट्रोल के दाम स्थिर ही देखने को मिले हैं। 10 फरवरी को देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल के दाम 72.10 रुपए प्रति लीटर थे। जबकि आज 20 फरवरी को 71.89 रुपए प्रति लीटर हैं। साफ देखा जा सकता है कि इस दौरान पेट्रोल के दाम में कितनी कटौती हुई है। जानकारों की मानें तो आने वाले दिनों में पेट्रोल के दाम में बढ़ोत्तरी देखने को मिल सकती है।

डीजल में 42 पैसे प्रति लीटर की कटौती
वहीं बात डीजल की करें तो डीजल के दाम में 10 फरवरी के बाद से 42 पैसे प्रति लीटर की गिरावट देखने को मिली है। आईओसीएल से मिले आंकड़ों के अनुसार 5 दिन डीजल के दाम स्थिर रहे हैं। 10 फरवरी को देश की राजधानी दिल्ली में डीजल के दाम 65.07 रुपए प्रति लीटर से आत 64.65 रुपए प्रति लीटर पर आ गए हैं। जबकि जितनी कटौती इन 10 दिनों के दौरान हुई है, उतनी एक या दो दिनों में हो जाती है। जानकारों के अनुसार आरबीआई महंगाई को लेकर पहले चेता चुका है। ऐसे में अगर डीजल के दाम में इजाफा होता है तो महंगाई में इजाफा देखने को मिल सकता है।

10 फरवरी के बाद ब्रेंट क्रूड में 11 फीसदी का इजाफा
भारत में ब्रेंट क्रूड ऑयल की डिमांड ज्यादा होती है, इसका कारण है इसकी क्वालिटी, जिसे ज्यादा रिफाइन करने की जरुरत नहीं होती है। रिफाइनिंग कॉस्ट में भी ज्यादा खर्चा नहीं होता है। अब इसी ब्रेंट क्रूड ऑयल की कीमत में 10 फरवरी के बाद से 11 फीसदी का इजाफा देखने को मिल चुका है। आंकड़ों के अनुसार 10 फरवरी को इंटरनेशनल मार्केट में ब्रेंट क्रूड ऑयल के दाम 53.27 डॉलर प्रति बैरल पर थे। 20 फरवरी को 59 डॉलर प्रति बैरल के करीब पहुंच चुके हैं। जिसका असर भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम में इजाफे के रूप में देखने को मिलेगा।

आखिर क्यों बढ़े क्रूड ऑयल के दाम
अब सवाल ये है जिस तरह का पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का असर देखने को मिल है, उसकी वजह से क्रूड ऑयल के दाम में काफी कटौती देखने को मिली हे। लेकिन जो रिपोर्ट सामने आई है, तो उससे ब्रेंट क्रूड ऑयल के दाम में इजाफा देखने को मिला है। जानकारों की मानें तो चीन में कोरोना वायरस के नए मामलों में कमी से क्रूड डिमांड बढऩे की संभावना है। अगर चीन की ओर क्रूड ऑयल की डिमांड में इजाफा होगा, वैसे-वैसे क्रूड ऑयल का दाम भी बढ़ेगा। वहीं रूस की कंपनी रोजनेफ्ट पर अमरीकी पाबंदी से सप्लाई घटने की आशंका बढ़ गई है। जिसकी वजह से क्रूड ऑयल के दाम में इजाफा देखने को मिल रहा है।

आज पेट्रोल और डीजल केे दाम स्थिर
वहीं बात आज की करें तो पेट्रोल और डीजल के दाम में लगातार दूसरे दिन कोई बदलाव देखने को नहीं मिला है। देश के चारों महानगरों के लोगों को मंगलवार वाले दाम चुकान होंगे। आखिरी बार पेट्रोल और डीजल के दाम में 5 पैसे प्रति लीटर कटौती देखने को मिली थी, जिसके बाद देश की राजधानी दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में डीजल के दाम क्रमश: 64.65, 66.97, 67.75 और 68.27 रुपए प्रति लीटर हो गए थे। जबकि पेट्रोल के दाम क्रमश: 71.89, 74.53, 77.56 और 74.68 रुपए प्रति लीटर हो गए थे।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here