PM CARES Fund Will Be Audited By Independent Firms – Pm Cares Fund का होगा ऑडिट, ट्रस्टी नियुक्त करेंगे फर्म

0
6


भले ही सरकार इसका ऑडिट करने जा रही हो लेकिन ऑडिट फर्म के चुनाव पर एक बार फिर से सवाल खड़े हो सकते हैं।

नई दिल्ली: Pm Cares Fund अपने बनने के साथ ही विवादों के घेरे में आ गई है । अब खबर आ रही है कि इस फंड का आडिट फंड के ट्रस्टियों द्वारा नियुक्त प्राइवेट फर्म करेगी। Foreign Contribution Regulation Act (FCRA) से छूट मिलने के बाद इस फंड में डोनेट करने वाले विदेश डोनर्स पीएम केयर्स फंड के पोर्टल से ही रसीद हासिल कर सकते हैं।

लॉकडाउन बढ़ा तो आईटी सेक्टर में बढेगी बेरोजगारी, वर्क फ्राम होम का नहीं पड़ेगा असर

आपको बता दें कि इस फर्म के ऑडिट और ट्रांसपरेंसी के दायरे में लाने के ले कांग्रेस अध्यक्ष सोनियां गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को एक पत्र लिखकर इस फंड में जमा हुई पूरी धन राशि को प्रधानमंत्री राह कोष में ट्रांसफर करने की बात कही थी। ताकि इस फंड के पैसे का कुशलतासे इस्तेमाल होने के साथ उसके बारे में ट्रांसपेरेंसी और अकाउंटेबिलटी बन सके। श्रीमती गांधी ने इस फंड को ऑडिट के दायरे में लाने की वजह से ये मांग रखी थी।

लॉकडाउन बढ़ने पर भी उत्पादन सेक्टर में शुरू होगा काम, सरकार ने दिये संकेत

हालांकि सोनिया गांधी की मांग को सरकार ने मानने से इंकार कर दिया है लेकिन अब इस फंड का ऑडिट कराने की बात कही जा रही है। भले ही सरकार इसका ऑडिट करने जा रही हो लेकिन ऑडिट फर्म के चुनाव पर एक बार फिर से सवाल खड़े हो सकते हैं। दरअसल इसके ट्रस्टी ही ऑडिट फर्म का चुनाव करेंगे और इसके ट्रस्टियों में खुद पीएम मोदी शामिल हैं ऐसे में ऑडिट कितना भरोसेमंद होगा ये बात आसानी से विरोधियों के गले नहीं उतर सकती।

इसके पहले वाम दलों ने इस फंड के डोनेशन की रसीद न मिलने की बात उठी थी। इसके अलावा पीएम केयर्स फंड डोनेशन को सीएसआर के दायरे में लाया गया है । यानि इसमें डोनेशन देने पर टैक्स में छूट मिलती है लेकिन मुख्यमंत्री राहत कोष के साथ ऐसा नहीं है इसको लेकर भी सत्ताधारी पार्टी पर निशाना साधा गया था ।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here