PM Narendra Modi Congratulate Nirmala Sitharaman For Budget 2020 – बजट के बाद PM मोदी का पहला भाषण, बोले- ये बजट अर्थव्यवस्था को मजबूती देगा

0
36


नई दिल्लीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi) ने बजट ( Budget 2020 ) के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ( Finance Minister Nirmala Sitharaman ) और उनकी टीम को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि मैं इस दशक के पहले बजट के लिए, जिसमें विजन भी है, एक्शन भी है, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी और उनकी टीम को बहुत-बहुत बधाई देता हूं ।

बजट में जिन नए रीफॉर्म्स का ऐलान किया गया है, वो हमारी अर्थव्यवस्था को गति देने, देश के प्रत्येक नागरिक को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने और इस दशक में अर्थव्यवस्था की नींव को मजबूत करने का काम करेंगे।

Budget 2020: नए टैक्स स्लैब में फंसा पेंच, छूट का लाभ उठाने के त्यागनी होंगी 70 रियायतें!

 

पीएम मोदी ने कहा कि रोजगार के प्रमुख क्षेत्र होते हैं, एग्रीकल्चर, इंफास्ट्रक्चर, टेक्सटाइल और टेक्नोलॉजी। इम्प्लॉयमेंट जनरेशन को बढ़ाने के लिए इन चारों बिंदुओं पर इस बजट में बहुत जोर दिया गया है।

उन्होंने कहा कि किसान की आय दोगुनी हो, इसके प्रयासों के साथ ही, 16 एक्शन प्वाइंट्स बनाए गए हैं जो ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार को बढ़ाने का काम करेंगे।

बजट में कृषि क्षेत्र के लिए एकीकृत दृष्टिकोण अपनाई गई, जिससे परंपरागत तौर तरीकों के साथ ही हॉर्टिकल्चर, फिशरीज, एनीमल हस्बेंड्री में वैल्यू एडिशन बढेगा और इससे भी रोजगार बढ़ेगा।

Rail Budget 2020: FM का PPP माॅडल पर तेजस जैसी और ट्रेनें चलाने की घोषणा, 50 लाख करोड़ का होगा निवेश

क्या बोले प्रधानमंत्री—

  • किसानों की आय दोगुनी करने के लिए सरकार तत्पर
  • देश में 100 नए एयरपोर्ट विकसित करने का लक्ष्य
  • बजट के बाद पीएम मोदी का पहला भाषण
  • टैक्स स्ट्रक्चर में मूलभूत बदलाव किए गए
  • ये बजट अर्थव्यवस्था को मजबूत करने वाला है
  • ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार बढ़ाने पर जोर दिया गया
  • रोजगार बढ़ाने के लिए निर्यात को बढ़ावा होगा
  • विदेश जाने वाले छात्रों के लिए कोर्स कराया जाएगा

 

बजट 2020: निर्मला सीतारमण के दूसरे बजट से मिडिल क्लास को है इस बात की उम्मीदें

टेक्निकल टेक्सटाइल के लिए नए मिशन की घोषणा हुई है। मैनमेड फाइबर को भारत में Produce करने के लिए उसके raw material के ड्यूटी स्ट्रक्चर में रीफॉर्म किया गया है। इस रीफॉर्म की पिछले तीन दशकों से मांग हो रही थी।

 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here