Prime Minister Boris Johnson in support of Home Minister Preeti Patel

0
41


लंदन। ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल ( britain home minister preeti patel ) पर लगे आरोपों के बाद अब सियासी सरगर्मी तेज हो गई है। कथित तौर पर गृहमंत्री प्रीति पटेल की ओर से अधिकारियों को धमकाने के मामले में विपक्षी लेबर पार्टी ने मोर्चा खोल दिया है, वहीं प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन खुद प्रीत पटेल के समर्थन में आ गए हैं।

विपक्ष लगातार गृहमंत्री से संसद में बयान देने की मांग कर रहे हैं। जबकि पीएम बोरिस जॉनसन प्रीति को एक शानदार गृह मंत्री बताया है।

कौन हैं प्रीति पटेल, जिनको ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने दी है अहम जिम्मेदारी

बता दें कि पटेल के स्थायी सचिव रहे सर फिलिप रुथनम के इस्तीफे के बाद से ये पूरा मामला सामने आया है। रुथनम ने कुछ दिनों पहले एक भावुक टीवी संबोधन के दौरान इस्तीफे का एलान करते हुए आरोप लगाया था कि पटेल के इशारों पर उनके खिलाफ दुष्प्रचार किया जा रहा था।

पीएम बोरिस जॉनसन ने पटेल का किया समर्थन

आपको बता दें कि पीएम बोरिस जॉनसन देश में कोरोना वायरस की बढ़ती आशंकाओं को दूर करने के लिए रविवार को उत्तरी लंदन पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि प्रीति पटेल एक शानदार गृह मंत्री हैं। जो कोई भी इस पद पर रह चुका है, वह इस बात को अच्छी तरह से जानता है कि गृह मंत्री का काम करना कितना कठिन है। मीडिया ने जॉनसन से पूछा था कि क्या अब भी आप प्रीति पटेल पर भरोसा करते हैं।

रुथनम के इस्तीफे के मुद्दे पर मंत्रिमंडल में उनके सहयोगी स्वास्थ्य मंत्री मैट हनकॉक भी उनके बचाव में उतर आए हैं। उन्होंने कहा कि प्रीति दृढ़ निश्चयी होने के साथ ही बहुत विनम्र भी हैं। बता दें कि रुथनम के इस्तीफे और आरोपों को लेरक प्रीति पटेल ने तो अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है।

गृह मंत्री संसद में आकर दे बयान: लेबर पार्टी

जहां एक ओर प्रीति पटेल के समर्थन में सरकार और पूरा मंत्रिमंडल उतर आया है, वहीं विपक्ष लगातार ये मांग कर रहा है कि गृह मंत्री प्रीति पटेल संसद में आकर बयान दें।

ब्रिटेन सरकार की कैबिनेट में प्रीति पटेल, आलोक शर्मा, ऋषि सुनाक बरकरार

पार्टी नेता सर किएर स्टारमर ने कहा, प्रीति पटेल पर जो आरोप लगे हैं उससे कुछ जरूरी सवाल उठे हैं और इसका जवाब हरहाल में देश को दिया जाना चाहिए। फिलहाल ये संभावना जताई जा रही है कि प्रीति पटेल पर जो भी आरोप लगे हैं उसपर उन्हें जांच का भी सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि रुथमन ने इस मुद्दे पर कोर्ट जाने की धमकी दी है।

कौन हैं प्रीति पटेल

आपको बता दें कि प्रीति पटेल भारतीय मूल की ब्रिटिश नागरिक हैं। इनका पूरा नाम प्रीति सुशील पटेल है। इनका जन्म लंदन में 29 मार्च 1972 को हुई थी। प्रीति पटेल एक ब्रिटिश राजनीतिज्ञ हैं, जिन्होंने 2019 से गृह विभाग के लिए राज्य सचिव और 2010 से विथम के लिए संसद सदस्य के रूप में कार्य किया है। उन्होंने 2016 से 2017 तक अंतर्राष्ट्रीय विकास के लिए राज्य सचिव के रूप में कार्य किया। इसके अलावा भी उन्होंने कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां संभाली है।

– पूर्व पीएम थेरेसा मे की मुख्य आलोचकों में से एक रहीं प्रीति पटेल ब्रिटेन में भारतीय मूल की पहली गृह मंत्री बनी हैं।

– प्रीति कंजरवेटिव पार्टी नेतृत्व के लिए ‘बैक बोरिस’ अभियान की प्रमुख सदस्य में शामिल थीं।

– ब्रिटेन के यूरोपीय संघ (EU) से बाहर होने के पक्ष में आयोजित किए अभियान में प्रीति की सबसे अहम भूमिका रही। जून 2016 प्रीति पटेल ने ‘वोट लीव’ अभियान चलाया था।

– 2010 में प्रीति पटेल विटहैम से सांसद चुनी गई थीं। इसके बाद 2015 और 2017 में भी इस पर अपनी पकड़ बरकार रखी।

– प्रीति डेविड कैमरन सरकार में रोजगार राज्यमंत्री भी रह चुकी हैं।

– प्रीति थेरेसा मे सरकार में अंतरराष्ट्रीय विकास मंत्री थीं। हालांकि, नवंबर 2017 उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था।

– प्रीति ने इजरायल के अधिकारियों के साथ गुप्त बैठकें की थी, जिस कारण राजनयिक प्रोटोकॉल का उल्लंघन हुआ था।

– गुजराती मूल की प्रीति ब्रिटेन में भारतीय मूल के लोगों के लगभग सभी प्रमुख कार्यक्रमों में शिरकत करती हैं।

– प्रीति के माता-पिता मूल रूप से गुजराती हैं। हालांकि, पहले वे युगांडा में रहते थे और बाद में 60 के दशक में इंग्लैंड आ गए थे।

– ब्रिटेन में प्रीति की छवि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उत्साही प्रशंसक के रूप में बनी हुई है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here