Prithvi Shaw Said, He Has Got Special Exemption From Sachin – पृथ्वी शॉ बोले, सचिन सर से उन्हें मिली हुई है विशेष छूट, कभी भी कर सकता हूं फोन

0
42


Prithvi Shaw भारत के सबसे प्रतिभाशाली उभरते खिलाड़ी माने जाते हैं। उन्होंने बताया कि आठ माह की प्रतिबंध की अवधि में उनका क्या हाल था।

नई दिल्ली : पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) भारत की अंडर-19 क्रिकेट टीम को 2018 में बतौर कप्तान विश्व कप का खिताब दिलवा चुके हैं। इसके अलावा उन्होंने भारत के लिए टेस्ट में शतक जड़कर अपना अंतरराष्ट्रीय डेब्यू किया था। जब वह टीम इंडिया की तरफ से शानदार प्रदर्शन कर रहे थे, तब वह चोटिल हो गए और इसके बाद जब चोट से उबरे तो उन पर आठ माह का डोपिंग बैन लग गया। बैन के दौरान शॉ काफी असहज थे। इसका खुलासा उन्होंने अब किया है।

क्रिकेट से दूर रहना किसी टॉर्चर से कम नहीं

भारतीय क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ इन दिनों लॉकडाउन में है। कोरोना वायरस के कारण भारत में यह स्थिति 14 अप्रैल तक रहेगी। इस कारण भारत समेत दुनियाभर में खेल बंद है। इस बीच एक साक्षात्कार में पृथ्वी शॉ ने कहा कि क्रिकेट से दूर रहना उनके लिए किसी टॉर्चर से कम नहीं था। बता दें कि पिछले साल डोपिंग प्रतिबंध के कारण अधिकतर समय पृथ्वी शॉ मैदान से बाहर रहे और लगता है कि यह पूरा साल कोरोना वायरस की महामारी में निकल जाएगा।

लॉकडाउन में डीडी स्पोर्ट्स दिखा रहा है टीम इंडिया के पुराने मैच, बीसीसीआई ने नहीं लिया एक भी पैसा

कोई भी दवा खाने से पहले सावधान रहना होगा

लॉकडाउन में घर से ही एक मीडिया को दिए साक्षात्कार में उन्होंने कहा कि आपको छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखना होगा। डोपिंग बैन पर उन्होंने कहा कि पैरासिटामोल खाते समय भी सावधानी बरतनी चाहिए। ये सिर्फ उनके लिए नहीं है, बल्कि सभी युवा खिलाड़ियों के लिए है। इसके आगे शॉ ने कहा कि कोई भी दवा खाने से पहले आपको अपने डॉक्टर या बीसीसीआइ डॉक्टर से बात जरूर करनी चाहिए। एक छोटी-सी बात आपको मुश्किल में डाल सकती है। उस घटना को याद करते हुए बताया कि उन्होंने एक कफ सिरप पी थी। इस सिरप में एक प्रतिबंधित पदार्थ था।

अब बिना परामर्श के नहीं लेता दवा

इसके बाद पृथ्वी शॉ ने कहा कि इस घटना से उन्होंने सबक ले लिया है और बिना बीसीसीआई के डॉक्टर्स से सलाह लिए वह कोकई दवा नहीं लेते हैं। उन्होंने कहा कि पहले ही एक गलती के कारण उन पर बैन लग गया था और उस दौरान क्रिकेट से दूर रहना उनके लिए बहुत कठिन हो गया था। यह समय उनके लिए बेहद टॉर्चरस था। उन्होंने कहा कि ऐसा कभी किसी के साथ भी नहीं होना चाहिए।

रोहित युवा खिलाड़ियों से करते रहते हैं बात, पंत को लेकर मीडिया और प्रशंसकों पर भड़के

सचिन ने दे रखी है छूट

20 वर्षीय दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा है कि उन्होंने इतनी-सी उम्र में ही यह जान लिया है कि आप सबको खुश नहीं रख सकते। कोई न कोई आपकी आलोचना करेगा जरूर। शॉ ने अपने जीवन के बड़े पलों में अंडर-19 विश्व कप जीतना और फिर टेस्ट डेब्यू में शतक जड़ना को बताया। इसके अलावा यह भी कहा कि उन्हें अभी इससे भी बड़े पलों का इंतजार है। पृथ्वी शॉ यह बोलते हुए काफी खुश दिखाई दिए कि सचिन सर ने उन्हें विशेष छूट दे रखी है कि वह जब चाहें तब उन्हें मैसेज या कॉल कर सकते हैं।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here