RBI Data Indicating Economic Pace, Increased Bank Loans And Deposits – आर्थिक रफ्तार की ओर संकेत देते आरबीआई के आंकड़े, बैंक कर्ज और जमा दोनों में इजाफा

0
47


नई दिल्ली। बीते एक महीने से जो देश की ओर से आर्थिक आंकड़े आ रहे हैं वो आने वाले दिनों में इकोनॉमी में रफ्तार के संकेत दे रहे हैं। लगातार दो बार से मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर के बढ़े हुए आंकड़े इस बात के गवाह हैं, जो 55.3 अंकों के साथ आठ साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गए हैं। अब जो भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से जो आंकड़े आए हैं वो भी इकोनॉमी में रफ्तार की ओर से इशारा कर रहे हैं। आरबीआई के अनुसार 17 जनवरी को खत्म हुए पखवाड़े में बैंक कर्ज और जमा दोनों में इजाफा देखने को मिला है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर आरबीआई की ओर से किस तरह के आंकड़े सामने रखे गए हैं…

यह भी पढ़ेंः- रिलायंस इंडस्ट्रीज का रिकॉर्ड तोड़ सकता है LIC का IPO, बाजार में मच सकता है तहलका

बैंक जमा और कर्ज दोनों में इजाफा
– रिजर्व बैंक के आंकड़े के अनुसार 17 जनवरी को समाप्त पखवाड़े में बैंक कर्ज और जमा क्रमश: 7.21 फीसदी और 9.51 फीसदी बढ़कर 100.05 लाख करोड़ रुपए तथा 131.26 लाख करोड़ रुपए रहा।
– एक साल पहले समान अवधि में बैंक कर्ज 93.32 लाख करोड़ रुपए, जबकि जमा 119.85 लाख करोड़ रुपए था।
– दो जनवरी, 2020 को समाप्त पखवाड़े में कर्ज 7.57 फीसदी बढ़कर 100.44 लाख करोड़ रुपए, जमा 9.77 फीसदी बढ़कर 132.10 लाख करोड़ रुपए था।
– गैर-खाद्य कर्ज दिसंबर 2019 में सालाना आधार पर 7 फीसदी की वृद्धि हुई है, जबकि इससे पहले दिसंबर 2018 में इसमें 12.8 फीसदी का इजाफा हुआ था।

यह भी पढ़ेंः- सरकारी हिस्सेदारी बेचने के विरोध में एलआईसी कर्मचारी 4 फरवरी को रहेंगे 1 घंटे हड़ताल पर

सर्विस सेक्टर का कर्ज और पर्सनल में भी इजाफा
– दिसंबर 2019 में सर्विस सेक्टर के कर्ज में 6.2 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली।
– एक साल पहले समान अवधि में 23.2 फीसदी की बढ़ोतरी हुई थी।
– कृषि एवं संबद्ध गतिविधियों के लिए कर्ज दिसंबर 2019 में 5.3 फीसदी बढ़ा।
– एक साल पहले इसी माह में इसमें 8.4 फीसदी का इजाफा देखने को मिला था।
– पर्सनल कर्ज आलोच्य महीने में 15.9 फीसदी बढ़ा।
– दिसंबर 2018 में इसमें 17 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली थी।
– उद्योग को दिए जाने वाले कर्ज में दिसंबर 2019 में 1.6 फीसदी की बढ़ोतरी हुई।
– एक साल पहले इसी माह में यह 4.4 फीसदी की बढ़ोतरी थी।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here