Sachin Tendulkar Said, Always Ready To Guide Prithvi Shaw – Sachin Tendulkar ने कहा, Prithvi Shaw के मार्गदर्शन के लिए हमेशा तैयार, अन्य युवाओं की भी कर चुके हैं मदद

0
41


Sachin Tendulkar से जब यह पूछा गया कि उन्होंने Prithvi Shaw को क्या बताया तो यह बताने से इनकार कर दिया।

नई दिल्ली : अपने क्रिकेट करियर में बेहद शालीन क्रिकेटर माने जाने वाले सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) किसी भी क्रिकेटर की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। विश्व क्रिकेट के महानतम बल्लेबाजों में से एक सचिन ने टीम इंडिया के युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) की उस समय भी मदद की थी, जब वह खराब दौर से गुजर रहे थे। अब एक बार फिर उन्होंने कहा है कि वह शॉ की मदद के लिए हमेशा तैयार हैं। बता दें कि शॉ ने टेस्ट करियर का आगाज शानदार शतक से किया था और ऐसा करने वाले वह दूसरे सबसे युवा बल्लेबाज बने थे। टेस्ट करियर के आगाज के तुरत बाद पहले टखने की चोट और उसके बाद डोप परीक्षण में नाकाम रहने के कारण उन्हें क्रिकेट मैदान से करीब 16 महीने तक मैदान बाहर रहना पड़ा था। कीवी दौरे पर ही उन्होंने वापसी की है।

सचिन बोले, प्रतिभाशाली क्रिकेटर हैं शॉ

हाल-फिलहाल में यह कहा जा रहा है कि शॉ में अनुशासन की कमी है। ऐसे में तेंदुलकर एक बार फिर आगे आए हैं और उन्होंने कहा है कि पिछले कुछ सालों में पृथ्वी से उनकी कई बार बातचीत हुई है। वह बहुत प्रतिभाशाली खिलाड़ी है और वह उनकी मदद कर बेहद खुश हैं। उन्होंने कहा कि इस दरमियान उन्होंने शॉ से क्रिकेट और खेल से बाहर की जिंदगी के बारे में बात की।

विशेष मांग पर Jasprit Bumrah ने शेयर की अपनी विस्फोटक पारी, Yuvraj Singh ने उड़ाया था मजाक

क्या मदद की बताने से किया इनकार

सचिन तेंदुलकर से जब यह पूछा गया कि उन्होंने शॉ को क्या बताया तो यह बताने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि उनका मानना है कि अगर किसी युवा ने उनसे संपर्क कर मार्गदर्शन मांगा है तो उनकी ओर से यह भी यह फर्ज बनता है कि कम से कम उसकी गोपनीयता बरकरार रहे। सचिन ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि इस बारे में वह किसी को बताना नहीं चाहेंगे कि किस मुद्दे पर बातचीत हुई थी। हालांकि पृथ्वी शॉ ने बता चुके हैं कि उन्हें तेंदुलकर से मदद मिली थी। इस पर सचिन ने कहा कि ठीक है, अगर पृथ्वी इस बारे में बात करना चाहता है, तो यह उसकी मर्जी है।

कई युवाओं की मदद करते रहे हैं सचिन

बता दें कि सचिन तेंदुलकर ने न सिर्फ पृथ्वी शॉ का मार्गदर्शन किया है, बल्कि वह अपने स्तर पर युवा क्रिकेटरों को मार्गदर्शन देते रहते हैं, लेकिन वह कभी इस तरह की बातों का खुलासा नहीं करते। सचिन ने कहा कि निजी स्तर पर उन्होंने बहुत सारे युवाओं से बात की है और उनका मार्गदर्शन किया है। अगर किसी युवा को लगता है कि वह उनके खेल के बारे में मार्गदर्शन दे सकते हैं तो वह इसके लिए हमेशा तैयार रहते हैं।

Chris Gayle ने साथी क्रिकेटर को बताया Coronavirus से भी बुरा, बोले देख लेंगे

कोहली की भी कर चुके हैं मदद

सचिन तेंदुलकर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की मदद भी कर चुके हैं। बांग्लादेश के खिलाफ पिछले साल नवंबर में गुलाबी गेंद से खेले गए टेस्ट से पहले सचिन से उन्होंने सुझाव लिया था। कोहली ने बताया था कि पहले दिन के खेल के बाद सचिन से उन्होंने बात की थी। इस पर उन्होंने बहुत दिलचस्प बात कही थी। उन्होंने कहा था कि गुलाबी गेंद के साथ आपको दूसरे सत्र को भी सुबह के सत्र की तरह ही लेना चहिए। इस समय अंधेरा हो रहा होता है और गेंद स्विंग होने लगती है। बता दें कि सचिन की सलाह कोहली के काफी काम आई थी। इस टेस्ट में उन्होंने शतक जड़ दिया था।










LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here