Skilled Professionals From India Will Get More Work Opportunities In Uk – भारत के कुशल पेशेवरों को ब्रिटेन में मिलेगा काम का ज्यादा मौका

0
34


ख़बर सुनें

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और गृहमंत्री प्रीति पटेल ब्रेग्जिट के बाद देश में नई वीजा नीति और भारत सहित दुनियाभर के कुशल पेशेवरों को वहां रहने और काम करने की प्रवासन नीति को अंतिम रूप देने में जुटे हैं। माना जा रहा है और ज्यादा पेशेवरों को ब्रिटेन बुलाने के लिए नई नीति में बदलाव किए जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन में बड़े पैमाने पर भारतीय पेशेवर पहले से काम कर रहे हैं।

बताया जाता है कि पिछले हफ्ते एक बैठक में उन्होंने ब्रिटेन की प्रवासन सलाहकार समिति की सिफारिश को स्वीकार कर लिया। इसमें ऐसे पेशेवरों का वेतन 30,000 पाउंड से घटाकर 25,600 पाउंड करने की सिफारिश के साथ कौशल स्तर, अंग्रेजी भाषा की जानकारी और नौकरी के लिए अतिरिक्त अंक देने की सिफारिश की गई है। बताया जाता है कि बृहस्पतिवार को जॉनसन मंत्रिमंडल के विस्तार के बाद शुक्रवार को प्रीति पटेल नई नीति की औपचारिक घोषणा कर सकती हैं।

सरकारी सूत्रों के हवाले से संडे टाइम्स ने बताया है कि प्रधानमंत्री ऐसा सिस्टम बनाना चाहते हैं, जिससे देश का माहौल उदार बने और ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था की तरक्की के लिए भारत सहित दुनियाभर की सर्वश्रेष्ठ प्रतिभाओं को स्थान मिले। सूत्रों ने बताया कि हम वह सब करना चाहते हैं, जिसके लिए हमें वोट दिया गया है।

हम अल्प कुशल लोगों का प्रवासन रोकना चाहते हैं और सस्ते श्रम के बदले कौशल, तकनीक और नवाचार को बढ़ावा देंगे ताकि ब्रिटेन को दीर्घकालिक लाभ मिले। यूरोपीय यूनियन के इतर ब्रिटेन में पिछले साल 56,241 कुशल भारतीय पेशेवरों को टीयर 2 वीजा दिया गया। ब्रेग्जिट के बाद माना जा रहा है कि यह संख्या और बढ़ेगी।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और गृहमंत्री प्रीति पटेल ब्रेग्जिट के बाद देश में नई वीजा नीति और भारत सहित दुनियाभर के कुशल पेशेवरों को वहां रहने और काम करने की प्रवासन नीति को अंतिम रूप देने में जुटे हैं। माना जा रहा है और ज्यादा पेशेवरों को ब्रिटेन बुलाने के लिए नई नीति में बदलाव किए जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन में बड़े पैमाने पर भारतीय पेशेवर पहले से काम कर रहे हैं।

बताया जाता है कि पिछले हफ्ते एक बैठक में उन्होंने ब्रिटेन की प्रवासन सलाहकार समिति की सिफारिश को स्वीकार कर लिया। इसमें ऐसे पेशेवरों का वेतन 30,000 पाउंड से घटाकर 25,600 पाउंड करने की सिफारिश के साथ कौशल स्तर, अंग्रेजी भाषा की जानकारी और नौकरी के लिए अतिरिक्त अंक देने की सिफारिश की गई है। बताया जाता है कि बृहस्पतिवार को जॉनसन मंत्रिमंडल के विस्तार के बाद शुक्रवार को प्रीति पटेल नई नीति की औपचारिक घोषणा कर सकती हैं।

सरकारी सूत्रों के हवाले से संडे टाइम्स ने बताया है कि प्रधानमंत्री ऐसा सिस्टम बनाना चाहते हैं, जिससे देश का माहौल उदार बने और ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था की तरक्की के लिए भारत सहित दुनियाभर की सर्वश्रेष्ठ प्रतिभाओं को स्थान मिले। सूत्रों ने बताया कि हम वह सब करना चाहते हैं, जिसके लिए हमें वोट दिया गया है।

हम अल्प कुशल लोगों का प्रवासन रोकना चाहते हैं और सस्ते श्रम के बदले कौशल, तकनीक और नवाचार को बढ़ावा देंगे ताकि ब्रिटेन को दीर्घकालिक लाभ मिले। यूरोपीय यूनियन के इतर ब्रिटेन में पिछले साल 56,241 कुशल भारतीय पेशेवरों को टीयर 2 वीजा दिया गया। ब्रेग्जिट के बाद माना जा रहा है कि यह संख्या और बढ़ेगी।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here